बुरहानपुर व आसपास के क्षेत्रों में भूजल की स्थिति हो रही खराब: चिटनीस

बुरहानपुर, 20 मार्च। जलवायु परिवर्तन की वजह से बुरहानपुर व आसपास के क्षेत्रों में भूजल की स्थिति काफी खराब हो रही है एवं अध्ययन में पता चला है कि आने वाले समय में स्थिति और चिंताजनक हो सकती है। अत: जलवायु परिवर्तन व भूजल स्तर के प्रति बढ़ती चिंता को लेकर काम करना अतिआवश्यक है। पानी बना नहीं सकते केवल बचा सकते हैं। बुरहानपुर के ग्राम संग्रामपुर में भूजल संरक्षण का पायलेट प्रोजेक्ट प्रारंभ किया जा रहा है।
यूएनडीपी अंतर्गत मध्यप्रदेश के 2 चयनित गांवों में से एक संग्रामपुर गांव का चयन किया गया है। विगत 25 वर्षों की भूजल स्तर का अध्ययन यह बताता है कि पहले भूजल 300 फिट पर प्राप्त हो जाता था। परंतु इस दशक में भूजल 600 से 700 फिट गहराई पर पहुंच गया है। वर्षा का अध्ययन करने पर पता चला है कि 1990 के दशक में 971 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई, वहीं इस दशक में 2011 से 2017 तक यह वर्षा का स्तर 679 मिलीमीटर पर आ गया है। मानसून में वर्षा के दिन कम हो गए, जो पहले करीब 60 दिनों तक वर्षा होती थी अब वह 35 से 40 दिनों तक ही सीमित रह गई है। यह बात प्रदेश में महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनीस ने ग्राम संग्रामपुर में खेतकुंड बनाओं-खेतकुंड बचाओं जल जागरण अभियान की शुरूआत करते हुए कही।
उन्होंने कहा कि जिले के संग्रामपुर ग्राम पंचायत में ”जलवायु परिवर्तन व सामुदायिक भूजल संरक्षण” पर परियोजना का निर्माण किया जा रहा है। पर्यावरण नियोजन एवं समन्वय संगठन (एप्को) व यू.एन.डी.पी. इंडिया द्वारा निर्मित की गई परियोजना में ऑटोमैटिक वेदर स्टेशन लगाया जाएगा व भूजल स्तर बढ़ाने के लिए रिचार्ज वेल, इंजेक्शन वेल इत्यादि बनाए जाएंगे।
यू.एन.डी.पी.के मोहन रेड्डी ने बताया कि परियोजना के माध्यम से भूजल स्तर की समस्या से निदान पाया जा सकता है। मंत्री की पहल पर यूनाईटेड नेशन डेव्लपमेंट प्रोग्राम (यूएनडीपी) द्वारा निर्मित की गई परियोजना में ऑटोमैटिक वेदर स्टेशन लगाया जाएगा व भूजल स्तर बढ़ाने के लिए रिचार्ज वेल, इंजेक्शन वेल इत्यादि बनाए जाएंगे।
यह एक साल की पायलट परियोजना होगी जिसके सफल होने पर परियोजना को वृहद स्तर की बनाई जाएगी। प्रस्तुति के पूर्व एप्को के प्रतीक बारापात्रे ने भी परियोजना की विस्तृत जानकारी उपस्थितजनों को दी।
इस अवसर पर जनपद पंचायत अध्यक्ष किशोर पाटिल, जिला पंचायत सदस्य गुलचंद्रसिंह बर्ने, शाहपुर मंडलाध्यक्ष वीरेन्द्र तिवारी, नीतिन महाजन, राजू पाटिल, प्रदीप पाटिल, योगेश चौधरी, एप्को के अभिजीत शर्मा, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकरी अनिल पवार, उमेश सातारकर, दिलीप राठौर, मुरली महाजन, डॉ.विनोद महाजन, मधुकर महाजन, कैलाश महाजन, जीवन भेरता, वैभव महाजन, डिगंबर भाई, किशोर महाजन, धारासिंह चौहान, सदाशिव टेलर, रमेश महाजन, कुंवरसिंह महाराज सहित बड़ी संख्या में कृषक व ग्रामीणजन मौजूद रहे।