अपराधियों को खौफजदा करने पुलिस की ये कैसी अजीबो-गरीब कार्रवाई

सागर, 21 मार्च। अपराधियों को खौफ में लाने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एक्शन के मूड़ में आ गए है। जिसके चलते उन्होने साफ निर्देश दिए कि अपराधियों को नहीं बख्शा जाऐगा। लेकिन मुख्यमंत्री के इस एक्शन का शहर की पुलिस का यह रिएक्शन हुआ कि अपना कोटा पूरा करने के लिए पार्क में बैठे कोचिंग व स्कूलों के छात्रों को ही निशाना बना डाला। सिविल लाईन स्थित चंद्रा पार्क में सुबह लगभग 10 बजे गोपालगंज थाना प्रभारी ने अपनी टीम के साथ पहुॅचकर पार्क में बैठे युवकों का जुलूस निकाला। इतना ही नहीं उन युवकों से चौराहे पर कान पकड़कर उठक-बैठक भी लगवाएं। बेलगाम पुलिस द्वारा अपना कोटा पूरा करने के लिए इस तरह की कार्रवाई से पता चलता है कि मुख्यमंत्री के एक्शन का किस तरह पुलिस जुलूस निकाल रही है।
हो गई कोई दुर्घटना तो कौन होगा जिम्मेदार?
पुलिस द्वारा बिना पूंछताछ किए किसी को भी अपना निशाना बनाया जा रहा है ऐसे में किशोर व कम उम्र के पढऩे वाले छात्रों को सरेआम बेइज्जत करने से अगर कोई किशोर शर्मिंदगी के कारण अवसाद में चला जाए तो इसका जिम्मेदार कौन होगा। अभिभावकों की मानें तो पुलिस द्वारा पढऩे-लिखने वाले छात्रों के साथ इस तरह का बर्ताव ठीक नहीं है। जबकि चंद्रा पार्क में बैठे कई कोचिंग के छात्र नाबालिग थे।
पदमाकर पुलिस ने अवैध निर्माण पर की कार्रवाई: पदमाकर थाना प्रभारी आरएस ठाकुर द्वारा क्षेत्र में लगातार कार्रवाईयां की जा रही है। जिसके तहत आज उन्होने आपराधिक रिकार्ड वाले व शिकायत वाले अतिक्रमण को हटाने के लिए एसडीएम, तहसीलदार की मौजूदगी में चिन्हित स्थानों का अतिक्रमण हटाया।