मेजर की पत्नी की हत्या के आरोपी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत

नई दिल्ली। सेना के एक साथी मेजर की पत्नी की हत्या के आरोपी मेजर निखिल हांडा को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। आपको बता दें कि पुलिस के मुताबिक मेजर ने कबूल किया है कि वह शैलजा द्विवेदी से शादी करना चाहता था। वह उसकी नहीं हुई इसलिए उसने शैलजा को मार डाला। कैंट इलाके में मेजर अमित द्विवेदी की पत्नी शैलजा द्विवेदी की हत्या के मामले को 24 घंटे के भीतर ही पुलिस ने सुलझा दिया। पुलिस ने शैलजा के मोबाइल की सीडीआर निकाली, जिससे साफ हो गया था कि पिछले शनिवार को 10 बजे से 1 बजे के बीच शैलजा ने मेजर हांडा से बात की थी। इसके बाद पुलिस ने तमाम कडिय़ों को आपस में जोड़ा। सबसे पहला सुराग बेस अस्पताल के सीसीटीवी ने दिया, जहां शैलजा से मेजर निखिल मिलने आया था। निखिल हांडा के साथ शैलजा अस्पताल से बाहर जाती हुई दिखाई दे रही थीं। जिस गाड़ी में शैलजा थीं, वह एक प्राइवेट सफेद रंग की कार थी। जांच में पता चला कि शैलजा के साथ अस्पताल में दिख रहा शख्स मेजर निखिल हांडा है, जो दीमापुर में तैनात था लेकिन अचानक शैलजा से मिलने दिल्ली आ गया था। मोबाइल की जांच की गई तो अखिरी कॉल निखिल हांडा की मिली और यही वह आधार बना जिसकी वजह से पुलिस हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने में सफल रही। निखिल ने पूछताछ में कबूल किया कि वह 2 जून को दीमापुर से छुट्टी लेकर शैलजा के लिए ही दिल्ली आया था। आरोपी ने ठान लिया था कि अगर शैलजा उसकी नहीं हुई तो वह उसकी हत्या कर देगा।