डॉ. रमन सिंह के लिए सैलाब उमड़ रहा कांग्रेस को जुटानी पड़ रही है भीड़

विशेष रिपोर्ट
विजय कुमार दास
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह जहां-जहां भी जाते हैं, उनके लिए बिना सरकारी तंत्र के या बिना कोई दबाव के आम जनता उन्हें देखने और सुनने आ रही है, वहीं कांग्रेस के नेताओं को भीड़ के लाले पड़ रहे हैं। रमन सिंह के साथ बेहतर माहौल है। जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहे हैं, लोग उनसे जुड़ते जा रहे हैं। हालिया कुछ महीनों में उनकी लोकप्रियता में काफी बढ़ोतरी हुई है। सभी वर्गों को साधने में मुख्यमंत्री कामयाब रहे हैं। शिक्षाकर्मिर्यों का संविलियन, किसानों को मुफ्त बिजली, ब्याज मुक्त ऋण, 50 लाख महिलाओं को मोबाइल देना, उद्योगों के लिए बिजली, पानी की सुविधा देना, किसानों को समर्थन मूल्य बढ़ाना कुछ ऐसे मुद्दे हैं, जिससे जनता मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से न केवल प्रभावित हुई है, बल्कि उनका असर सभाओं में देखने को मिल रहा है। रमन सिंह की यात्रा का भी जनता में जबरदस्त प्रभाव पड़ रहा है। आम जनता डॉ. रमन सिंह से सीधे जुड़ रही है। इसका ज्यादा असर सोशल मीडिया के माध्यम से हो रहा है। जबकि कांग्रेस नेताओं को जनता की बेरुखी का सामना करना पड़ रहा है, उनकी सभाओं में न भीड़ होती है और न ही उन्हें देखने-सुनने वालों की ज्यादा तादाद होती है। टिकट के दावेदार कांग्रेसी नेता भीड़ जुटाने के लिए तरह-तरह के उपाय कर रहे हैं। यहां तक कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी जब छत्तीसगढ़ आते हैं तो उनके लिए भी भीड़ जुटाना कांग्रेस नेताओं के लिए मुश्किल भरा कदम साबित हो रहा है। अभी हाल ही में राहुल गांधी बस्तर के दौरे पर आए थे, तब प्रदेश भर से भीड़ जुटाने की कोशिश कांग्रेस नेताओं ने की थी। उसके बाद भी आशा के अनुरुप भीड़ नहीं जुट पायी। उन्हें सुनने-देखने वालों की कमी दिखी। वहीं जब रमन सिंह (शेष पेज 9 पर)