पहली बार जंगल में उतरी फोर्स, 15 नक्सली ढेर

रायपुर, 7 अगस्त। छत्तीसगढ़ में नक्सलियों से मुठभेड़ के दौरान सुरक्षा बलों को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। सुरक्षा जवानों ने 15 नक्सलियों को मार गिराया है, जबकि 16 हथियार भी बरामद किए हैं। यह मुठभेड़ नक्सल प्रभावित सुकमा जिले के गोलापल्ली थाना क्षेत्र के जंगलों में हुई। फिलहाल सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके के घेर  कर छानबीन शुरू कर दी है। एंटी-नक्सल ऑपरेशन के स्पेशल डीजी ने बताया, 15 नक्सलियों को ढेर किया गया। इसके अलावा एक महिला नक्सली के साथ 5 लाख रुपये का इनामी नक्सली भी गिरफ्तार किया गया। हमें शिविर में 20-25 लोगों के होने की जानकारी थी। सुकमा के आंतरिक क्षेत्र में एक और ऑपरेशन चल रहा है।मौके पर करीब 200 नक्सली मौजूद थे: सुकमा में भारी बरसात में पहली बार पुलिस और सुरक्षाबलों की टीम नक्सलियों के खिलाफ जंगल में मोर्चे पर उतरी। यहां जंगलों में सुबह हुई मुठभेड़ में पुलिस और सुरक्षाबलों ने 14 नक्सलियों को मार गिराया। एसपी अभिषेक मीणा ने घटना की पुष्टि की है। बताया जा रहा है कि मौके पर करीब 200 नक्सली मौजूद थे। जानकारी के मुताबिक गोलापल्ली थाना क्षेत्र से सोमवार की सुबह जवान सर्चिंग पर निकले थे। इसी दौरान नक्सलियों से उनका सामना हो गया। दोनों तरफ से तकरीबन एक घंटे तक गोलीबारी चलती रही। इसके बाद नक्सलियों की ओर से फायरिंग बंद हो गई। जवानों को मोर्चे पर भारी पड़ता देख नक्सली वहां से भाग खड़े हुए। घटना में करीब 14 नक्सली मारे गए।कई नक्सलियों ने किया सरेंडर: क्षेत्र में नक्सलियों के जमावड़े को देखते हुए अब मुठभेड़ के बाद सघन सर्चिंग भी जारी है। जवान जंगलों में अंदर तक घुसकर नक्सली मांद को ढ़ूंढ रहे हैं। बता दें कि पहली बार भरी बारिश के दौरान पुलिस और सुरक्षा बलों द्वारा बस्तर में नक्सलियों के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के दौरान कई नक्सलियों ने खुद सामने आकर आत्मसमर्पण करना भी शुरू कर दिया है।दो दिन पहले बासागुड़ा गांव को बनाया था निशाना: बता दें कि इससे पहले तीन अगस्त को छत्तीसगढ़ में बस्तर के अति संवेदनशील जिले बीजापुर के बासागुड़ा गांव में लगे साप्ताहिक बाजार में नक्सलियों ने दहशत फैलाने और पुलिस जवानों को निशाना बनाने के लिए गोलियां चलाईं थीं, जबकि एक जवान को चाकू से हमला किया था। बताया गया कि नक्सलियों ने ये हमला जवानों को निशाना बनाते हुए किया था।