अगले साल बन जाएगी पिट लाइन व आईओएच शेड

भोपाल, 26 अगस्त (ईएमएस)। राजधानी के हबीबगंज स्टेशन पर तीसरी पिट लाइन और इंटरमीडियट ओवरहालिंग (आईओएच) शेड बनेगा। इसके बाद यहां से नई ट्रेनें चलने लगेगी। पिट लाइन पर ट्रेन के कोच की धुलाई व प्रायमरी मेंटेनेंस होगा। आईओएच शेड में ट्रेन के कोच की बड़ी तकनीकी खामियों को दूर किया जाएगा। यह दोनों काम वर्ष 2019 में पूरे होंगे। इसके बाद नई ट्रेनें चलाने की कवायद शुरू होगी।
नई ट्रेनें चलने से यात्रियों को सहूलियतें होंगी। बता दें कि लंबे समय से हबीबगंज से यात्री पुणे, बैंगलोर, पटना आदि स्टेशनों के लिए नई ट्रेनें चलाने की मांग कर रहे हैं। वर्ल्ड क्लास स्टेशन बनने के बाद हबीबगंज से आने वाले समय में नई ट्रेनें चलाई जानी हैं। इसके लिए ट्रेनों की धुलाई व प्रायमरी मेंटेनेंस के लिए आधुनिक पिट लाइन बनाई जा रही है। इसका निर्माण शुरू कर दिया गया है। 11 लाख रुपए इसकी लागत है। यह मौजूदा पिट लाइन व आईएसबीटी से हबीबगंज नाका जाने वाली मुख्य सड़क के बीच में बनाई जा रही है।
आईओएच शेड का काम अभी चालू नहीं हुआ है। यह ट्रैक मशीन से सावरकर सेतु के बीच रेलवे ट्रैक व मुख्य सड़क के बीच बनना है। अभी हबीबगंज स्टेशन से भोपाल एक्सप्रेस, रेवांचल, जनशताब्दी और इंटरसिटी एक्सप्रेस नियमित ट्रेनें चलती हैं। इसमें से इंटरसिटी के चार, भोपाल व रेवांचल के दो-दो और जनशताब्दी का एक रैक मिलाकर कुल नौ रैक हैं। जिनकी धुलाई व प्रायमरी मेंटेनेंस हबीबगंज की दो पिट लाइनों पर होता है। इसके अलावा अभी हबीबगंज से अगरतला, पुरी और धारवाड़ के लिए तीन साप्ताहिक ट्रेनें भी हैं इनका भी मेंटेनेंस हबीबगंज में ही होता है।
इस तरह दो पिट लाइन पर कुल 12 रैक के कोच की धुलाई व मेंटेनेंस का जिम्मा है। ऐसे में हबीबगंज से नई ट्रेन चलाई तो मेंटेनेंस में दिक्कत आएगी। इसे देखते हुए नई पिट लाइन का काम शुरू कर दिया गया है। हबीबगंज में आईओएच शेड नहीं है। जब भी कोचों में गंभीर तकनीकी खराबी आती है तो उन्हें भोपाल भेजना पड़ता है। इस तरह कोच को भेजने, उसे वहां से लेकर वापस आने के काम में अतिरिक्त रेलकर्मी, लोको पायलट व इंजन की जरूरत पड़ती है। भोपाल से हबीबगंज के बीच ट्रैक भी व्यस्त रहता है। ऐसे में कई दिन तक कोच ठीक नहीं हो पाते। हबीबगंज में आईओएच शेड बनने से यह सब नहीं करना पड़ेगा।
नई ट्रेन चलाने में भी आसानी होगी। इस संबंध में भोपाल रेल मंडल के डीआरएम शोभन चौधुरी का कहना है कि दोनों काम जल्द पूरा करेंगे। इसका फायदा रेलवे को होगा। हबीबगंज पिट लाइन का काम शुरू कर दिया है। भविष्य में नई ट्रेनें चलाने में मदद मिलेगी।