गूगल मैप पर आएगी वक्फ सम्पत्ति: शौकत

भोपाल, 30 अगस्त। आजादी के सत्तर बरस में वक्फ जायदाद सहेजने के जितने काम भाजपा शासनकाल में हुए हैं, उतने कभी नहीं किए गए होंगे। देश में रेलवे के बाद अगर किसी के पास सबसे ज्यादा सम्पत्ति है तो वह वक्फ की है। इस सम्पत्ति को बचाने और इसके विकास के लिए इसको गूगल मैप पर डाला जा रहा है। प्रदेश की वक्फ सम्पत्ति का डिजीटलाइजेशन कर इसको सहेजने की कोशिश की जा रही है।
मप्र वक्फ बोर्ड अध्यक्ष शोकत मोहम्मद खान ने ये बात कही। वे बुधवार को इटारसी में वक्फ बोर्ड के सम्भागीय सम्मेलन को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के दौर में वक्फ जायदादों की बर्बादी हुई है। इस दौरान झ वक्फ बोरिंग को महज 40 लाख रुपए सालाना अनुदान अनुदान मिला करता था, वहीं शिवराज सिंह चौहान की भाजपा सरकार ने दिए बोर्ड को 1 करोड़ 40 लाख रुपए अनुदान दिया है। बढ़े हुए अनुदान से आई कामों में तेजी का असर ये है कि बोर्ड की आमदनी में 165त्न की बढ़ोतरी हुई है। बढ़ी हुई आमदनी से जरुरतमंदों की मदद के कामों में इजाफा हुआ है। इस मोके पर शौकत मोहम्मद ने उनके कार्यकाल में प्रदेशभर में वक्फ सम्पत्तियों को लेकर किए गए विकास कार्यों का जिक्र भी किया। उन्होंने सरकार की विभिन्न योजनाओं का जिक्र करते हुए मुस्लिम समाज से इनका फायदा उठाने की अपील की।
कार्यक्रम में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की प्रदेश मंत्री शमीम अफजल, रफत वारसी, जावेद बेग, रिजवान अली खान, काजी सैयद अनस अली नदवी, हरिशंकर जयसवाल, अशरफ अली कासमी, नीरज जैन, असद मकसूद, अलीम कुरैशी आदि भी मौजूद थे। कार्यक्रम का आयोजन इटारसी जिला वक्फ कमेटी ने किया था।