जिले में पोस्टिंग नहीं होने का मलाल

मंत्रालय के एक कक्ष में बैठने वाले साहब को जिले की कलेक्टरी नहीं मिलने का मलाल है। मंत्रालय में बेहतर कार्य करने वाले अधिकारी को उम्मीद थी कि उन्हे किसी जिले की जिम्मेदारी मिलेगी। उन्हे प्रमोशन तो नहीं मिला लेकिन डी वाले विभाग में बैठा दिया गया। सूत्र बताते हैं कि नर्मदा परिक्रमा के दौरान उक्त अधिकारी को परिवार में वैवाहिक कार्यक्रम में जाना था। एक बड़े अधिकारी ने यह कहकर उनकी छुट्टी रद्द करवा दी कि नौकरी में बने रहिए, जिले में जाने का रास्ता आसान हो जाएगा। साहब ने पत्नि को अकेले ही कार्यक्रम में भेज दिया। पत्नि के वापस लौटने के बाद भी साहब की जिले में पदस्थापना नहीं होने के बाद से घर में रार जारी है। एक अधिकारी बोले शादी ससुराल में हो और दामाद न पहुंचे यह कैसे हो सकता है। … खबरची