2014 से भी बड़ी जीत 2019 में दर्ज करेंगे: शाह

नई दिल्ली, 9 सितंबर। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी कार्यकारिणी की बैठक में 2019 में अजेय रहने का आह्वान किया। कार्यकारिणी के एजेंडे को अंतिम रूप देने के लिए चल रही पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में अमित शाह ने कार्यकर्ताओं से अपील की कि बीजेपी 2019 में पार्टी 2014 से भी ज्यादा प्रचंड बहुमत से सत्ता में वापसी करेगी, प्रचंड जीत के लिए उन्होंने मौजूद नेताओं को संकल्प दिलाकर कार्यकारिणी के मूड और रणनीति का खाका सामने रखा।
अमित शाह ने ये भी कहा कि 3 राज्यों के विधानसभा चुनाव के अलावा तेलंगाना पर भी विशेष ध्यान दिया जाएगा, जाहिर है मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में सत्ता में वापसी की जद्दोजहद में लगी पार्टी के लिए राह आसान नहीं दिख रही, खासकर सत्ता विरोधी लहर और एससी/एसटी एक्ट के मुद्दे पर हो रहे विवाद और बवाल को देखते हुए राह कठिन दिख रहे हैं। माना जा रहा है कि कार्यकारिणी में इस मुद्दे पर भी गहन चर्चा हो सकती है, साथ ही ये रणनीति बनाने की कोशिश होगी की पारंपरिक वोट (उच्च जातियां) साथ रहें। अमित शाह ने पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में ये भी कहा कि हमारे पास दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता हैं, सरकार की उपलब्धियां भी ऐसी है कि जो 70 साल में किसी सरकार की नहीं रही, इन उपलब्धियों को घर-घर पहुंचाने का काम संगठन को है, बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक दिल्ली के आंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में हो रही है, आंबेडकर सेंटर में कार्यकारिणी की बैठक कर पार्टी सन्देश भी दे रही है कि बाबा साहेब के बताये रास्ते पर सरकार और संगठन चलने का संकल्प लिए हुए है, साथ ही सबका साथ सबका विकास उसी नीति का प्रमुख हिस्सा है। रविवार यानी 9 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन भाषण से शाम को कार्यकारिणी का समापन होगा, बैठक में वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, राजनाथ सिंह, मुरली मनोहर जोशी, सुषमा, जेटली सहित कार्यकारिणी के सदस्य शामिल होंगे, सभी राज्यों के पार्टी अध्यक्ष, पार्टी के सभी मुख्ययमंत्री, उपमुख्यमंत्री और संगठन से जुड़े सदस्य भी बैठक में शिरकत करेंगे, बैठक में सरकार की उपलब्धियों, आगामी विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव पर मंथन होगा। राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पिछली बैठक से अब तक की प्रमुख गतिविधियों और कार्यक्रमों की जानकारी और संगठनात्मक विषयों पर भी चर्चा होगी, इसके अलावा राजनीतिक एवं आर्थिक प्रस्तावों पर चर्चा होगी और आगामी कार्यक्रमों की रूपरेखा तय की जाएगी। बैठक में केंद्र की उपलब्धियों पर प्रमुखता से चर्चा की जाएगी, पार्टी के सूत्रों का कहना है कि बैठक में हर राज्य के अध्यक्षों के तरफ राज्य का रिपोर्ट कार्ड पेश किया जाएगा और लोकसभा चुनावों की तैयारी पर भी बैठक में चर्चा की जाएगी, इसके अलावा बैठक में सरकार की उपलब्धियों, खासकर बुनियादी ढांचे के विकास, दो करोड़ ग्रामीण आवास, उज्ज्वला गैस कनेक्शन, खुले में शौच मुक्त गांव, विद्युतीकरण और इस वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी में हुई बढ़ोतरी पर चर्चा होगी। बैठक में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को न सिर्फ श्रद्धांजलि दी जा रही है, बल्कि आंबेडकर सेंटर में चारों तरफ उनकी तस्वीर लगाकर कार्यकर्ताओं को संदेश दिया जा रहा है कि अपने जनप्रिय नेता, उनके नेतृत्व और उनकी नीतियों को पार्टी सदा याद रखेगी।
2019 में भाजपा शाह की अध्यक्षता में लड़ेगी चुनाव, बढ़ेगा कार्यकाल
2019 चुनाव की तैयारियों में जुटी भारतीय जनता पार्टी ने बड़ा निर्णय लिया है। पार्टी मौजूदा अध्यक्ष अमित शाह की अध्यक्षता में ही लोकसभा चुनाव लड़ेगी। दरअसल, अमित शाह का कार्यकाल जनवरी, 2019 में समाप्त हो रहा है, लेकिन चुनाव को देखते हुए पार्टी ने संगठन चुनाव को एक साल के लिए टालने का निर्णय लिया है, आम चुनाव बीतने के बाद ही संगठन के लिए चुनाव होगा, आपको बता दे कि भाजपा ने अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव में सभी को साथ लेते हुए 2014 से अधिक बहुमत से सरकार बनाना सुनिश्चित करने के लिए काम करने का संकल्प लिया है। सूत्रों ने बताया कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की अध्यक्षता में पार्टी की एक महत्वपूर्ण बैठक में यह संकल्प लिया गया, पार्टी के राष्ट्रीय पदाधिकारियों एवं राज्य इकाई के अध्यक्षों की बैठक में ‘अजेय भाजपाÓ के नारे को अंगीकार किया गया है। बैठक में इस साल के अंत तक मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान सहित पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव में जीत के लिये पूरा जोर लगाने का संकल्प लिया गया। भाजपा को पूरा भरोसा है कि वह 2019 के लोकसभा चुनाव में 2014 के लोकसभा चुनाव से अधिक बहुमत से जीत दर्ज करेगी।
भाजपा राष्ट्रीय कार्यसमिति ने वाजपेयी के निधन पर शोक जतायाड्ड
भाजपा ने पूर्व प्रधानमंत्री और पार्टी के संस्थापक अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए आज कहा कि देश ने मूल्यनिष्ठ राजनीति के आधार पर सुशासन की अवधारणा को फलीभूत करने वाला एक युगदृष्टा खोया है। भाजपा राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में वाजपेयी के निधन पर शोक प्रस्ताव पारित किया जिसमें कहा गया, भाजपा पार्टी के संस्थापक अध्यक्ष और राष्ट्र के सर्वप्रिय नेता श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर गहरा शोक प्रकट करती है। अटल जी के निधन से हम सभी ने इस देश में मूल्यनिष्ठ राजनीति के आधार पर सुशासन की अवधारणा को फलीभूत करने वाले एक युगदृष्टा को खोया है।