कांगे्रस की सरकार बनी तो पीडि़त परिवार को रोजगार दिलाएंगे : कमलनाथ

भोपाल, 13 सितम्बर। प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष कमलनाथ आज झाबुआ जिले के पेटलावद में हुए डिटोनेटर्स विस्फोट की तीसरी बरसी पर पहुंचे। वहां उन्होंने सर्वप्रथम श्रद्धांजलि चौक पर हादसे में मृत व्यक्तियों को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने मृत व्यक्तियों के पीडि़त परिवारों से भी इस अवसर पर मुलाकात की। इसके पश्चात वे वहां आयोजित एक बड़ी जनसभा को संबोधित करने सभा स्थल पहुंचे।
कमलनाथ ने विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि आज से तीन वर्ष पूर्व पेटलावद डिटोनेटर्स ब्लास्ट एक ऐसा हादसा था, जिसको भुलाया नहीं जा सकता। पेटलावद ब्लास्ट के समय मृत व्यक्तियों के परिवारों को मिले मुआवजे को लेकर पीडि़त परिवारों ने आज मुझसे मिलकर अपनी परेशानियां बतायीं हैं। मैंने उनको विश्वास दिलाया है कि कांगे्रस की सरकार बनने पर आपकी हर समस्या का समाधान होगा। हर पीडि़त परिवार के योग्य सदस्य को हम रोजगार भी देंगे। शिवराज सरकार ने इस मामले में सच्चाई को दबाया है। हम सच्चाई सामने लाएंगे। कमलनाथ ने कहा कि आज शिवराज सरकारी खर्च पर पूरी सरकारी मशीनरी लगाकर जनआशीर्वाद यात्रा निकाल रहे हंै। स्व-सहायता समूह से लेकर शिक्षक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं आदि की भीड़ जुटाकर जनता के पैसे से यह यात्रा निकल रही है और वहीं दूसरी ओर हमारी सभाओं में जनता खुद आकर प्रदेश की सूरत बदलने के संकल्प को साकार करने में हमारे साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि हमारे समय किसान भाई फसलों का समर्थन मूल्य बढ़वाने आते थे, मैं उन्हें सोनिया जी के पास ले जाकर फसलों का समर्थन मूल्य बढ़वाता था। आज स्थिति विपरीत है। आज किसान राज्य सरकार से समर्थन मूल्य दिलवाने की मांग लेकर हमारे पास आते हैं। कमलनाथ ने कहा कि शिवराज सिंह इंवेस्टर्स मीट के माध्यम से करोड़ों खर्च कर रोजगार के बड़े-बड़े वादे करते हैं। लेकिन यह रोजगार सिर्फ कागजों पर ही नजर आता है। प्रदेश में उद्योग तो नहीं खुल रहे हैं, खुल रहे हैं तो सिर्फ शराब के मयखाने। आज युवा इससे भटक रहा है। आज प्रदेश महिलाओं के दुष्कर्म में नंबर वन है। किसानों की आत्महत्या में नंबर वन है। कुपोषण और भ्रष्टाचार में भी नंबर वन है। सड़कों की स्थिति जर्जर है। लेकिन कितना हास्यास्पद है कि शिवराज सिंह इसे अमेरिका से अच्छी बताते हुए नहीं थकते हैं। हमारा वादा है ‘किसान का कर्जा माफ, बिजली पूरी-बिल हॉफ और भाजपा साफÓ प्रदेश की तस्वीर बदलने के लिए आपको कांगे्रस को चुनना होगा। हम प्रदेश का नया नक्शा और नयी व्यवस्था बनाएंगे। हर समस्या का समाधान करेंगे। युवाओं को रोजगार देंगे और किसानों का कर्जा माफ करेंगे। सांसद कांतिलाल भूरिया ने इस अवसर पर सभा को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार आदिवासियों को विष वाले जूते-चप्पल बांटकर उनकी हत्या की साजिश रच रही है। वे आदिवासियों की संख्या कम कर उसे समाप्त करना चाहती है। इस अवसर पर नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, कांगे्रस कार्यकारी अध्यक्ष बाला बच्चन, कलावती भूरिया, विक्रांत भूरिया, महेश जोशी, जेवियर और पारस सखलेचा सहित अन्य कांगे्रसजन उपस्थित थे। इस ऐतिहासिक सभा के लिए पूरा मैदान खचाखच भरा था। दूरदराज से आए आदिवासियों का हुजूम कमलनाथ को सुनने आया था।
आज शिवराज सरकार में रोजगार की बात नहीं होती, बातें होती हैं तो सिर्फ उन ठेकों की जिसमें 15 से 20 प्रतिशत कमीशन मिलता है। हमारे में व भाजपा में यही अंतर है, हम किसान हित की, नौजवानों के भविष्य की, महिलाओं की सुरक्षा की सोचते हैं और भाजपा सिर्फ ठेके, बड़े उद्योगपति व ठेकेदारों की सोचती है। हमें सरकार चलाना आता है और इन्हें दुकान चलाना। कमलनाथ ने कहा कि हमें मंदसौर में किसानों का गोलीकांड भी याद है कि किस प्रकार अपना हक मांग रहे किसानों के सीने पर गोलियां दागी गईं और दोषियों को बचा लिया गया। मैं आपसे यह वादा करता हूं कि कांगे्रस की सरकार बनने पर निर्दोष किसानों पर दर्ज झूठे व फर्जी मुकदमों की जांच करायेंगे, उन्हें वापस लेंगे और दोषियों पर कड़ी कार्यवाही भी करेंगे। हम किसानों के लिए ऐसी नीति बनायेंगे जिससे खेती लाभ का धंधा बने। कोई अगर, मगर, किंतु, परंतु नहीं सरकार बनने पर किसानों का कर्जा माफ करेंगे।
शिवराज जन आशीर्वाद यात्रा में लायी गई सरकारी भीड़ को जनता का प्यार दिखाकर प्रचारित करते हैं। लेकिन सच्चाई इसके विपरीत है। वे आशीर्वाद लेने नहीं खरीदने निकले हैं। वे सिर्फ घोषणाएं करते हैं। मैं उनसे पूछता हूं कि आपको जनता का हित पिछले पांच वर्षों में याद क्यों नहीं आया, चुनाव के तीन माह पहले ही सब कुछ क्यों याद आ रहा है? शिवराज प्रदेश की जनता को मूर्ख समझते हैं। मैं तो उनकी हिम्मत की दाद देता हूं कि आज प्रदेश किसानों की आत्महत्या, बलात्कार, बेरोजगार, भ्रष्टाचार, कुपोषण में नंबर वन है और वे चल पड़े हैं आशीर्वाद मांगने।
इस अवसर पर नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, संजय कपूर, मीनाक्षी नटराजन, नरेन्द्र नाहटा, घनश्याम पाटीदार, राजकुमार अहीर, उमराव सिंह गुर्जर, रामकिशोर दोगने सहित बड़ी संख्या में नेतागण उपस्थित थे।