बाल आयोग के अध्यक्ष राघवेंद्र शर्मा ने पिछोर विधानसभा से की दावेदारी

भोपाल, 20 अक्टूबर। मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव को देखते हुए बाल संरक्षण आयोग के अध्यक्ष राघवेंद्र शर्मा ने भी टिकट की दावेदारी पेश कर दी है। सूत्रों की माने तो राघवेंद्र शर्मा ने शिवपुरी की पिछोर विधानसभा सीट से टिकट की मांग की है। बताया जाता है कि संघ से हरी से झंडी मिलने के बाद भारतीय जनता पार्टी राघवेंद्र शर्मा को अपना उम्मीदवार बना सकती है। पिछोर विधानसभा सीट पर अभी कांग्रेस का कब्जा है। इसे कांग्रेस की परंपरागत सीट माना जाता है। पिछोर क्षेत्र में 45 हजार लोधी वोट, 25 हजार आदिवासी वोट,, 17 हजार यादव, 15 हजार ब्राह्मण,8 हजार वैश्य, 6 हजार पाल समाज और करीब 10 हजार वोट कोली समाज के हैं। लोधी बाहुल्य सीट होने की वजह से पार्टी हर बार लोधी सामाज के व्यक्ति को अपना उम्मीदवार बनाती है। लेकिन कांग्रेस के सामने भाजपा को हर बार शिकस्त का सामना करना पड़ता है। भाजपा के पूर्व प्रत्याशी रहे प्रीतम सिंह लोधी के खिलाफ कई तरह के आपराधिक मामले दर्ज है,इस वजह से लोगों में उनके प्रति भय बना रहता है। यही वजह है कि पिछले 25 साल से इस सीट पर केपी सिंह का कब्जा है। 25 साल से नेतृत्व करने के बाद भी केपी सिंह ने रोजगार, स्वास्थ्य, शिक्षा के क्षेत्र में कोई ठोस काम नहीं किए हैं। जिसकी वजह से लोगों में नाराजगी व्याप्त है। 2013 के चुनाव में के पी सिंह को 78995 वोट मिले थे, तो वहीं दूसरे स्थान पर रहे बीजेपी के भैया प्रीतम लोधी को 71882 वोट मिले थे। के.पी. सिंह ने 6 हजार से ज्यादा वोट लेकर जीत हासिल की थी। इसके अलावा 2008 के विधानसभा चुनाव में के.पी. सिंह को 55081 वोट मिले थे,जबकि बीजेपी के भैया साहब लोधी को 28246 वोट मिले थे। मौजूदा समय में भी भाजपा के लिए इस सीट को जीतना आसान नहीं है। भाजपा की तरफ से मध्यप्रदेश बाल संरक्षण आयोग के अध्यक्ष राघवेंद्र शर्मा का नाम चर्चा में हैं,इनके अलावा पूर्व प्रत्याशी भैया साहब लोधी, पूर्व मंत्री लक्ष्मीनाराण गुप्ता के बेटे रमेश गुप्ता, प्रीतम सिंह लोधी, वरिष्ठ नेता जगराम सिंह यादव, विकास पाठक टिकट के लिए दावेदारी कर रहे हैं। तो वहीं कांग्रेस की तरफ से इस बार भी केपी सिंह उम्मीदवार बनाए जाने की चर्चा है।