बॉलीवुड के नाम भूपति ने लिखा खुला खत

मुंबई, 23 अक्टूबर। मी टू यानी ‘मैं भी यौन शोषण का शिकार हुई या हुआ, मैं भी बोलूंगी या बोलूंगा। इस अभियान की आंच भारत में फैल चुकी है और कहां-कहां पहुंचेगी, कौन-कौन लपेटे में आएगा, यह कहना बहुत मुश्किल है। हर दिन नए-नए खुलासों के साथ कोई न कोई महिला सामने आ रही है। सिनेमा जगत के बाद अब राजनीति भी उसकी आंच में आ गई है। जिनमें एक केंद्रीय मंत्री भी हैं। बीते 15 दिन मी टू की खबरों के बीच में राजनेता, फिल्म उद्योग के दिग्गज, संगीतकार, हास्य अभिनेता, पत्रकार, लेखकों, मीडिया व्यक्तित्व और कॉर्पोरेट, खिलाडिय़ो के नाम सामने आए है। भूपति टेनिस स्टार महेश भूपति की पहचान एक खिलाड़ी की रही है, बीते कई सालों से इंडिया के लिए खेल रहा है लेकिन इटरटेनमेंट की दुनिया के साथ भी उनका काफी लगाव है। मिस यूनिवर्स रह चुकी उनकी पत्नी लारा दत्ता जो बॉलीवुड की जानीमानी अभिनेत्री भी हैं। बॉलीवुड में इन दिन यौन शोषण के खिलाफ मी टू का अभियान चल रहा है और ऐस में अब भूपति ने इस पर अपनी चुप्पी तोड़ी है। भूपति ने कहा सवाल यह है कि हमें अपने आप से पूछने की ज़रूरत है कि क्या यह उचित है। क्या ट्विटर पर माफ़ी मांग लेने से बात खत्म हो जाती है । प्तरूद्गह्लशश मूवमेंट में जितनी भी महिलाओं ने अपनी कहानियां शेयर कीं, उन्हें जानकर मैं और मेरी पत्नी बेहद परेशान हुए हैं, शायद इसका कारण ये भी है कि मेरी पत्नी ने ये दुनिया काफी नजदीक से देखी है और उसके कई दोस्त भी है, जो इस में शामिल भी रहे हैं, मगर सच्चाई यही है कि इस इंडस्ट्री के प्रभावशाली लोगों ने इस मूवमेंट को स्पोर्ट करने से मना कर दिया है। साजिद खान अब हाउसफुल 4 के निर्देशन नहीं हैं, लेकिन क्या यह काफी है। भूपति दो दिन पहले मेरी पत्नी को मुकेश छाबड़ा की कंपनी के जरिए एक इंटरनेशनल डिजिटल कंपनी के प्रचार का ऑफर आया, वो शहर से बाहर थीं तो उन्होंने मुझे वो ऑफर भेजा और मेरी राय मांगी, मैंने लारा से पूछा कि क्या वो मुकेश छाबड़ा की कंपनी के साथ सही में काम करना चाहती हैं, खासकर तब जब उनका नाम मीटू में सामने आया है। इस पर लारा ने कहा कि उस डिजिटल कंपनी ने भी तो मुकेश छाबड़ा से अपनी बिजनेस डील नहीं तोड़ी है। इसके बाद लारा ने उस डिजिटल कंपनी को कहा कि वो मुकेश छाबड़ा की कंपनी के जरिए कोई भी काम नहीं लेगी। भूपति कल रात इंडस्ट्री में मेरे एक दोस्त ने मुझे बताया कि हर कोई एक महीना गुजर जाने की बात कर रहा है ताकि मामला ठंडा पड़ जाए और फिर उसी तरह से सब नॉर्मल हो जाए, तभी मुझे लगा कि चाहे मुझ पर इसका कोई असर न हुआ हो, मगर मैं अपनी बात कहूंगा ।