ट्रंप की वजह से चीन की सबसे अमीर महिला हो गई बर्बाद, गंवाए 5000 करोड़ रुपए

बीजिंग, 24 अक्टूबर। अमरीका के साथ ट्रेड वॉर के चलते चीन की सबसे अमीर महिला झू कुनफेई को बुरे दिनों का सामना करना पड़ रहा है। जब से दोनों देशों के बीच ट्रेड वॉर बढ़ी है तब से झू कुनफेई की संपत्ति में 66 प्रतिशत यानी साढ़े छह अरब डॉलर (करीब पांच हजार करोड़ रुपए) की कमी हो चुकी है। उनकी कंपनी लेंस टेक्नॉलॉजी एप्पल और टेस्ला के लिए टचस्क्रीन बनाती थी।
लेंस टेक्नॉलॉजी के शेयर में भी इस साल 62 फीसदी की कमी आई है। झू का जन्म 1970 में हुनान प्रांत के शियांगशियांग में हुआ था। अपनी कंपनी शुरू करने से पहले उन्होंने छह साल तक एक ग्लास फैक्ट्री में काम किया था। अमेरिका-चीन के बीच चल रहे ट्रेड वॉर के चलते कई चीनी अरबपतियों को नुकसान हुआ है। अलीबाबा ग्रुप के संस्थापक जैक मा और टेनशेट हॉल्डिंग्स के सीईओ मा हुतेंग भी इससे अछूते नहीं हैं।
दुनिया के 500 सबसे अमीर लोगों में शामिल चीनी कारोबारियों को इस साल अभी तक कुल 86 अरब डॉलर का नुकसान हुआ है। एलोन मस्क पर टेस्ला कंपनी के शेयरहोल्डर्स को गुमराह करने के आरोपों ने तो आग में घी का काम किया। इस खबर के सामने आने के बाद टेस्ला के कई एशियन सप्लायर्स की संपत्ति में कमी आई है। ऑक्सफॉर्ड इकॉनॉमिक्स की रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिकी व्यापार नीति में बदलाव का सबसे बुरा असर चीन पर ही हुआ है।