भाजपा-कांग्रेस के साथ बसपा में भी जोर पकड़ रहा स्थानीय प्रत्याशी का मुद्दा

राष्ट्रीय हिन्दी मेल नेटवर्क
बैरसिया, 24 अक्टूबर। चुनावी सरगर्मी में मप्र की विधानसभा क्रमांक 149 बैरसिया में जोर पकड़ रही स्थानीय प्रत्याशी की मांग ने अब ज्वाला का रूप धारण कर लिया है यहां 21 अक्टूबर को बैरसिया के भाजपा पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं का सैंक ड़ों लोगों का जत्था भाजपा प्रदेश कार्यालय पर जा धमका एवं प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह व नरेन्द्र सिंह तोमर एवं सुहास भगत से बैरसिया विधानसभा में स्थानीय व्यक्ति को प्रत्याशी बनाने की मांग की जा चुकी है।
बैरसिया विधानसभा से भाजपा प्रदेश कार्यालय पहुंचे सैंकङ़ों कार्यकर्ताओं ने पूर्व विधायक ब्रह्मानंद रत्नाकर को प्रत्याशी बनाने की बात भी कही। वहीं दूसरी ओर बसपा ने जैसे ही 20 अक्टूबर को अनिता अहिरवार को प्रत्याशी बनाना तय किया वैसे ही पार्टी पदाधिकारियों द्वारा बाहरी प्रत्याशी का चयन किये जाने के निर्णय के विरूद्ध बसपा त्यागने एवं प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप अहिरवार एवं प्रदेश प्रभारी रामअचल राजभर का पुतला दहन करने की घोषणा कर दी गयी। बसपा-भाजपा के साथ ही कांग्रेस में स्थानीय प्रत्याशी का मुद्दा तो चरम पर है चूंकि विधानसभा के अनेकों सरपंच व जनपद सदस्यों द्वारा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ व दिग्विजय सिंह से भेंट कर स्थानीय प्रत्याशी की मांग के अपने अधिकृत-पत्र तक सौंपे जा चुके हैं एवं राष्ट्रीय हिन्दी मेल की टीम से बातचीत में युवा कांग्रेस,अल्पसंख्यक कांग्रेस,किसान कांग्रेस से लेकर आईटी सेल एवं पिछङ़ा वर्ग व एनएसयूआई तक के पदाधिकारियों ने स्थानीय व्यक्ति को टिकट दिया जाना प्रथम प्राथमिकता बताया।
यह पहली बार है जब भाजपा कांग्रेस एवं बसपा किसी मुद्दे पर विधानसभा मे एक साथ लामबंदी करती दिखाई दे रही हैं अब देखना यह है कि कोन सी पार्टी बैरसिया विधानसभा में स्थानीय प्रत्याशी की सरगर्मी को भुनाने का कार्य करेगी भाजपा की ओर से स्थानीय प्रत्याशी की दावेदारी मे पूर्व विधायक ब्रह्मानंद रत्नाकर तो कांग्रेस की ओर से विनय मेहर आगे चल रहे है तो बसपा की ओर से तोरन सिंह अहिरबार व शिवनारायण अहिरवार कवायद करते दिखाई दे रहे हैं।