करवा चौथ पर 11 साल बाद बनेगा राजयोग

राष्ट्रीय हिन्दी मेल नेटवर्क
खरगोन, 25 अक्टूबर। इस साल 27 अक्टूबर को करवा चौथ मनाया जाएगा। इस बार करवा चौथ पर अत्यंत शुभ योग बन रहे हैं। पंडितों के अनुसार इस बार 11 साल बाद करवाचौथ पर राजयोग बन रहा है। इसके साथ ही सर्वार्थसिद्धि और अमृतसिद्धि योग भी बन रहे हैं। तीन एक साथ शुभ योगों के होने के कारण इस बार करवाचौथ की पूजा अत्यंत ही शुभ मुहूर्त में होगी। इससे पहले 2007 में करवाचौथ पर राजयोग बना था। सुहागिन महिलाओं के लिए करवाचौथ का व्रत बहुत ही महत्वपूर्ण माना गया है।
इस बार महिलाओं का त्योहार करवा चौथ 27 अक्टूबर को मनाया जाएगा। कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को करवा चौथ का त्योहार मनाया जाता है। करवा शब्द का अर्थ मिट्टी का बर्तन होता है। चौथ का शाब्दिक अर्थ चतुर्थी है। इस दिन विवाहित महिलाएं पति की लंबी उम्र और सफलता की मनोकामना पूरी होने के लिए कठिन व्रत रखती हैं। वहीं, अविवाहित युवतियां सुयोग्य वर की कामना के लिए इस व्रत को धारण करती हैं। इस दिन महिलाएं पूरे दिन व्रत रखती हैं। यहां तक कि वो जल ग्रहण भी नहीं करतीं। शाम को जब चद्रोदय होता है यानी चांद निकल आता है तो उसे अघ्र्य अर्पित करने के बाद व्रत खोलती हैं।
इस पर्व को लेकर महिलाओं में काफी उत्साह है। बाजारों में भी रौनक पहले से काफी बढ़ी है। ज्वेलरी से लेकर, कपड़े और मेकअप सामग्री तक की दुकाने भी सजी हैं। जहां ग्राहकों को लुभाने के लिए आकर्षक ऑफर दिए जा रहे हैं। वहीं महिलाएं चूड़ी, साड़ी व श्रंृगार का सामान खरीदने में लगी हैं। इसके लिए अभी से मेहंदी के लिए महिलाओं की बुकिंग आनी शुरू हो गई है। वहीं मेकअप के लिए भी ब्यूटी पालर्स में बुकिंग की जा रही है। जहां महिलाओं को छूट ऑफर भी दिए जा रहे हैं।
करवा चौथ के व्रत को लेकर शहर में महिलाएं बाजार में खरीदारी करती नजर आने लगी है। चूड़ी, कड़े अन्य सुहाग चिन्हों की खरीद में महिलाएं जुटी हैं। शहर के बाजारों में मिट्टी के करवों की दुकानें भी लगने लगी है। जहां अलग-अलग साइज व डिजाइन के करवे उपलब्ध हैं। मार्केट में 10 रुपये से लेकर 50 रुपये तक करवा उपलब्ध है। इसके अलावा महिलाओं के रुझान को देखते हुए आर्टीफिशियल ज्वेलरी भी दुकानों पर सजाई गई है।
विभिन्न बाजारों में स्थित सूट व साड़ी की दुकानों पर भी त्योहार के चलते नई वैरायटी आ चुकी हैं। मार्केट में इस बार नए पैटर्न में कई तरह की साडिय़ां आई हैं। जो महिलाओं को काफी पंसद आ रही है। इसके अलावा विशेष दिन को लेकर दुकानदारों ने भी खास तैयारी कर रखी है। नए पैटर्न आने से दुकानदारों में आपस में कंपीटिशन बना है। हर रेंज की साड़ी आने से महिलाओं में भी काफी उत्साह बना हुआ है।