भाजपा में मौजूदा विधायकों के प्रति बढ़ रहा आक्रोश

राजनीतिक संवाददाता
भोपाल, 27 अक्टूबर। चुनाव का वक्त करीब आते ही मध्यप्रदेश भारतीय जनता पार्टी में मौजूदा विधायकों का विरोध तेज हो गया है। इसी क्रम में आज खातेगांव विधायक आशीष शर्मा के विरोधियों ने प्रदेश भाजपा कार्यालय में नारेबाजी की और आशीष शर्मा का टिकट काटने की मांग की। विरोधियों ने प्रदेश भाजपा कार्यालय में यह शपथ ली कि यदि पार्टी ने इस बार आशीष शर्मा को टिकट दिया तो वे उनके लिए काम नहीं करेंगे और चुनाव भी हरा देंगे। खातेगांव रहवासी विनोद तापड़े ने विधायक आशीष शर्मा पर आरोप लगाया कि विधायक का क्षेत्र में बहुत विरोध है,वे किसी की सुनवाई नहीं करते।
खातेगांव में वे पूरी भाजपा को अपने तरीके से चलाते हैं,यहां संगठन नाम की कोई चीज नहीं बची। साथ ही उन्होंने कहा कि आशीष शर्मा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के साथ घूमते हैं और पार्टी विरोधी गतिविधियों में भी शामिल रहते हैं। विधायक के संरक्षण में यहां खनिज और शराब माफिया सक्रिय हैं। यदि पार्टी ने उन्हें टिकट दिया तो वे पार्टी का काम नहीं करेंगे। वहीं दूसरी तरफ विधायक आशीष शर्मा के समर्थकों को कहना है कि खातेगांव विधानसभा से पूर्व विधायक बृजमोहन धूत खातेगांव विधानसभा से चुनाव लडऩा चाहते हैं,और उन्हीं के इशारे पर विधायक आशीष शर्मा के खिलाफ प्रदेश भाजपा कार्यालय में प्रदर्शन कराया जा रहा है। प्रदर्शन के दौरान प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह जब कार्यालय से बाहर जा रहे थे तब विरोधियों ने राकेश सिंह की गाड़ी रोक ली इसके बाद भी राकेश सिंह ने उनसे कोई चर्चा नहीं की, वे भीड़ को हटाते हुए कार्यालय से चले गए। इनके बाद कैलाश विजयवर्गीय भी निकले उन्होंने भी कोई चर्चा नहीं की।
पार्टी सूत्रों की माने तो यहां मंत्री दीपक जोशी भी चुनाव लडऩा चाहते हैं। क्यों कि दीपक जोशी के खिलाफ हाटपीपल्या में भारी विरोध है। जिसके चलते वे भी सीट बदलने की बात कह रहे हैं। विधायक आशीष शर्मा का विरोध करने पहुंचे लोगों का आरोप है कि आशीष शर्मा खुद भी दिन भर नशे में रहते हैं। जिसकी वजह से उनका विरोध किया जा रहा है। इसके अलावा राजगढ़, श्योपुर विधानसभा के समर्थकों ने भी मौजूदा विधायकों की टिकट काटे जाने की मांग की।