कैंसर की जांच के लिए हमीदिया में लगेगी मेमोग्राफी मशीन

निज संवाददाता
भोपाल, 27 अक्टूबर। अगले साल जनवरी से राजधानी के हमीदिया अस्पताल में स्तन कैंसर की जांच की सुविधा शुरू हो सकती है। कैंसर की जांच के लिए अस्पताल में मेमोग्राफी मशीन लगाई जाएगी। इस मशीन के खरीदने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। मप्र पब्लिक हेल्थ सप्लाई कॉरपोरेशन से मशीन खरीदने के लिए दरें तय होने के बाद कॉलेज की ओर से खरीदी प्रक्रिया शुरू होगी। इससे संदिग्ध मरीजों को जांच के लिए निजी अस्पताल नहीं जाना होगा।
हमीदिया अस्पताल में रेडियोडायग्नोसि विभाग के डॉक्टरों ने बताया कि हर दिन एक-दो महिलाए स्तन कैंसर की स्क्रीनिंग के लिए सोनोग्राफी कराने आती हैं। विभाग में मेमोग्राफी सुविधा शुरू होती है तो इनकी इस मशीन से और बेहतर तरीके से जांच हो सकेगी। अभी संदिग्ध मरीजों को जांच के लिए निजी अस्पतालों में रेफर किया जाता है। इसमें करीब 2 हजार रुपए का खर्च है। डॉक्टरों ने बताया कि मेमोग्राफी मशीन 30 लाख रुपए से लेकर ढाई करोड़ रुपए तक की आती हैं। बजट कम होने की वजह से हमीदिया के लिए कम कीमत वाली मशीन खरीदने की तैयारी है। मशीन लगने से एक ब?ा फायदा पीजी स्टूडेंट्स को भी मिलेगा। मेडिकल काउंसिल ऑफ (एमसीआई) के मापदंड के अनुसार भी पीजी छात्रों की पढ़ाई के लिए मेमोग्राफी मशीन होना जरूरी है। प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में अभी सिर्फ एम्स में मेमोग्राफी मशीन लगी है।
किसी भी सरकारी मेडिकल कॉलेज में मेमोग्राफी मशीन नहीं है। हमीदिया अस्पताल में आयुष्मान भारत योजना के तहत आने वाले मरीजों की जांच भी यह मशीन आने के बाद हो सकेगी। इस बारे में जीएमसी डीन डॉ. एमसी सोनगरा का कहना है कि मेमोग्राफी मशीन के लिए दरें तय करने का काम कॉरपोरेशन कर रहा है। रेट तय होने पर खरीदी की की प्रक्रिया शुरू होगी।