शातिर मोबाइल चोर क्राइम ब्रांच की गिरफ्त में

क्राइम रिपोर्टर
भोपाल, 27 अक्टूबर। राजधानी भोपाल में अपराधों पर नियंत्रण एवं रोकथाम के लिए पुलिस उप महानिरीक्षक भोपाल धर्मेंद्र चौधरी द्वारा दिए गए निर्देशानुसार भोपाल पुलिस द्वारा चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत संदिग्ध व्यक्तियों एवं संदिग्ध स्थानों की तलाशी सघन तरीके से करते हुए।
थाना क्राइम ब्रांच भोपाल को मुखबिर से सूचना मिली कि एक संदिग्ध लड़का सस्ते दाम में मोबाइल फोन बेचने की बातें कर रहा है जो चोरी के हो सकते है। मुखबिर की सूचना के आधार पर थाना क्राइम ब्रांच ने वरिष्ठ अधिकारियों भोपाल पुलिस अधीक्षक (दक्षिण) राहुल कुमार लोढ़ा, पुलिस अधीक्षक भोपाल (मुख्यालय) धर्मवीर सिंह यादव एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक क्राइम ब्रांच भोपाल रश्मि मिश्रा के मार्गदर्शन में थाना क्राइम ब्रांच की टीम गठित कर मुखबिर की सूचना के आधार पर योजनाबद्ध तरीके से घेराबंदी कर बताए गए हुलिये के आधार पर पीएनटी चौराहे पर संदिग्ध को संदेश को पकड़ा। पूछताछ में संदिग्ध ने अपना नाम फरहान उर्फ समीर पिता मोहम्मद इकबाल उम्र 24 साल निवासी ग्राम कजलीखेड़ा कोलार रोड, भोपाल बताया।
क्राइम ब्रांच की टीम द्वारा सख्ती से पूछताछ में आरोपी फरहान उर्फ समीर में 10-12 दिन पहले आईएसबीटी बस स्टैंड में एक लड़के के पास से ओप्पो कंपनी का मोबाइल फोन चोरी करना स्वीकार किया। जिसे क्राइम ब्रांच की टीम ने मौके से जप्त किया। आरोपी फरहान उर्फ समीर ने एक एमआई का मोबाइल फोन नेहरूनगर चौराहे से चोरी करना एवं अपने दोस्त धीरज सिंह पिता प्रेमचंद उम्र 40 साल निवासी 57 विंध्याचल अकादमी के पास गेहूंखेड़ा कोलार रोड, भोपाल को बेचना बताया व एक सैमसंग कंपनी का मोबाइल फोन 20 दिन पहले फोन टीटी नगर को ऑपरेटिव बैंक के सामने से चोरी कर अपने पहचान वाली के भतीजे अमन को बेचना स्वीकार किया। क्राइम ब्रांच की टीम ने आरोपी से एक मोबाइल व मोबाइल खरीददार आरोपी धीरज को गिरफ्तार कर एक मोबाइल फोन जप्त किया। क्राइम ब्रांच टीम तीसरे मोबाइल फोन खरीददार अमन की तलाश कर रही है।