एसपी के स्क्वाड ने पांच लाख रुपए से अधिक की शराब पकड़ी

राष्ट्रीय हिन्दी मेल नेटवर्क
खंडवा, 27 अक्टूबर। शहर सहित आसपास के ग्रामीण अंचलों में आबकारी व ठेकेदारों की मिलीभगत से गांव-गांव शराब बेची जा रही है। कई बार ग्रामीणों द्वारा भी गांव में शराब बिक्री बंद कराये जाने को लेकर आंदोलन किया जाता रहा है। लेकिन अवैध शराब माफियाओं पर भी सख्ती से कार्रवाई नहीं होती। अब चुनावी मौसम में भी शराब खपत करवाने के लिए आबकारी व ठेकेदारों द्वारा शराब गांव गांव पहुंचाई जा रही है। इसी के चलते पुलिस अधीक्षक के स्क्वॉड द्वारा पांच लाख से अधिक की शराब जप्त कर मामले की जांच में जुट गई है और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात भी कही जा रही है। शुक्रवार को जिले के पिपलोद थाने के अंतर्गत आने वाले ग्राम भगवानपुरा के पास पिकअप वाहन में अवैध रूप से शराब ले जाई जा रही थी। जिसको पुलिस अधीक्षक की स्पेशल स्क्वाड द्वारा पकड़ा गया। जिसमे आबकारी द्वारा जो चालान दिया गया था उसमें आबकारी विभाग द्वारा फर्जीवाड़ा किया गया था दरअसल यह खेल आबकारी द्वारा कागजों की हेरा फेरी कर कई लंबे समय से चल रहा था।
वाहन में तकरीबन 200 पेटी शराब जप्त की गई जिसकी कीमत 500000 बताई जा रही है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यह शराब होने वाले विधानसभा चुनाव में खपत करने के लिए गांव गांव पहुंचाई जा रही थी लेकिन ग्राम भगवानपुरा पहुंचने से पहले ही एसपी रुचि वर्धन मिश्र की स्पेशल स्क्वाड द्वारा धरदबोचा। अवैध रूप से शराब का यह खेल आबकारी द्वारा चलाया जा रहा था।
एसपी रुचिवर्धन मिश्र ने बताया कि आबकारी द्वारा जो परमिट चालान बनाया गया है इस चालान में बैज नंबर मैच नहीं पाया गया है, जिससे ड्राइवर के ऊपर धारा (34 ) दो के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया है एवं मामले की निष्पक्षता से जांच की जा रही है। जांच में और भी जिन-जिन के नाम सामने आएंगे उन पर भी कार्यवाही की जाएगी।