झाडिय़ों में बिलखता मिला नवजात, ग्रामीणों की पड़ी नजर

राष्ट्रीय हिन्दी मेल नेटवर्क
खरगोन। भगवानपुरा थानाक्षेत्र के ग्राम काबरी में एक कलियुगी मां ने जिस बच्चे को नौ महिने पेट में रखा उसे जन्म के बाद मरने के लिए नाले के समीप झाडिय़ों में फेंक दिया। इसका खुलासा शुक्रवार सुबह हुआ, जब खेतों में काम करने जा रहे ग्रामीणों को एक नाले के समीप झाडिय़ों में बिलखता हुआ नवजात मिला। भगवानपुरा में प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल लाया गया, यहां एसएनसीयू में उसका उपचार किया जा रहा है। मिली जानकारी अनुसार काबरी के सागमूली फालिया में सुबह करीब 7 बजे ग्रामीण खेतों की ओर जा रहे थे, तो उन्हें बच्चे के रोने की आवाज सुनाई दी। इसके बाद नाले के समीप नवजात पड़ा मिला। ग्रामीणों ने तुरंत बच्चे को सहारा दिया। महिला क्षमाबाई पति राधेश्याम ने बच्चे उठाया और खुद उसे जिला अस्पताल तक लेकर पहुंची। ग्रामीण आशाराम ने बताया कि हम जब उसके पास पहुंचे, तो चिंटियां नवजात को काट रही थी। इससे उसका चेहरा लाल पड़ गया था। इसके बाद ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। डायल 100 की मदद से ग्रामीण मासूम को भगवानपुरा के सरकारी अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां से बाद में खरगोन लाया गया। पुलिस के अनुसार रात में नवजात (लड़का) का जन्म हुआ है। किसी ने यहां फेंक दिया है। वह रातभर खुले में पड़ा रहा। फिलहाल नवजात का इलाज जारी है। पुलिस जांच कर रही है।