सिलवानी से रामपाल और देवेन्द्र मुकाबले के लिए हो रहे तैयार

विनीत माहेश्वरी
रायसेन, २८ अक्टूबर। जिले की सिलवानी विधानसभा वैसे तो वर्ष 2008 में अस्तित्व में आई और यह सीट भी भाजपा का गढ़ ही मानी गई लेकिन इस गढ़ में भारतीय जन शक्ति पार्टी के उम्मीदवार देवेन्द्र पटेल ने वर्ष 2008 में सेंध लगाते हुए रामपाल सिंह राजपूत को महज 247 मतों से पराजित कर दिया था। वहीं 2013 विधानसभा चुनाव में भाजपा से रामपाल सिंह राजपूत ने कांग्रेस से उम्मीदवार देवेन्द्र पटेल को पराजित कर दिया गया। इस वर्ष 2018 विधानसभा चुनाव में भी रामपाल सिंह राजपूत भाजपा से एवं कांग्रेस से देवेन्द्र पटेल ही प्रबल दावेदार माने जा रहे है। वहीं वैसे तो कांग्रेस से कई दावेदार इस बार सामने आए है और वहीं क्षेत्र में चर्चाओं का दौर जारी है कि रामपाल सिंह राजपूत क्षेत्र में विरोध होने के चलते इस बार सीट बदल सकते है। लेकिन सूत्रों की माने तो सीट बदलने की बात सिर्फ चर्चा ही है और सिलवानी से ही चुनाव लडऩे की उनके द्वारा पिछले 2 साल से क्षेत्र में तैयारी की जा रही है। वहीं कांग्रेस से लोक विजय शाह एवं शेर सिंह यादव का नाम भी इस बार तेजी के साथ उभरा है। जिसमें लोक विजय शाह भी सिलवानी वि.स से मजबूत तरीके से कांग्रेस ताल ठोक रहे है।
1 लाख 97 हजार मतदाता सिलवानी वि.स में:-विधानसभा क्षेत्र सिलवानी के तहत कुल 197613 मतदाता हैं जिनमें 105254 पुरूष मतदाता, 92358 महिला मतदाता तथा एक अन्य मतदाता शामिल हैं। वहीं सिलवानी में 273 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं। वर्ष 2013 विधानसभा चुनाव की बात की जाए तो मतदाता 1 लाख 85 हजार 979 थी। जो वर्ष 2018 वि.स चुनाव में 11हजार 634 बढ़ गई है। इसी तरह मतदान केन्द्र 218 थे जो इस चुनाव में बढ़कर 273 हो गई है। देखा जाए तो 61 बढ़ गए है।
2013 में 16 प्रत्याशियों की जमानत हुई थी जप्त:- वर्ष 2013 विधानसभा चुनाव में सिलवानी से 18 प्रत्याशी चुनावी दंगल में कूंदे थे जिनमें 16 अपनी जमानत तक नहीं बचा पाए थे और उनकी जमानत जप्त हो गई थी। वहीं भाजपा से रामपाल सिंह राजपूत को 68926 मत हासिल हुए थे और वो 17076 मतों से विजय हुए थे और उनके निकटतम कांग्रे से देवेन्द्र पटेल को 51848 मत मिले थे। मतों का प्रतिशत देखा जाए तो भाजपा को 49.60 एवं कांग्रेस को 37.31 रहा था। देखा जाए तो 2013 में 185979 मतदाता थे जिनमें 140014 मत डाले गए थे ओर वोट प्रतिशत 75.28 था। जिसमें विधिमान्य मत 138958 थे। वहीं वर्ष 2008 की बात की जाए तो भारतीय जन शक्ति पार्टी से उम्मीदवार देवेन्द्र पटेल को 40115 मत मिले थे और भाजपा से रामपाल सिंह को 39868 मत मिले थे। जिसमें देवेन्द्र पटेल 247 मत से जीत गए थे।