कांग्रेस ने भोपाल में बनाया ‘भ्रष्टाचार का स्मारक: संबित पात्रा

भोपाल, 28 अक्टूबर। राफेल घोटाले का आरोप झेल रही भारतीय जनता पार्टी ने अब कांग्रेस से जुड़े नेशनल हेराल्ड अखबार को भोपाल में आवंटित की गई भूमि के व्यवसायिक उपयोग को मुद्दा बना लिया है। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता व मध्यप्रदेश के चुनाव मीडिया प्रभारी संबित पात्रा ने एमपी नगर स्थित नेशनल हेराल्ड की बिल्डिंग के सामने प्रेसवार्ता कर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्व अध्यक्ष सोनिया गंाधी पर जमकर निशाना साधा। संबित पात्रा ने कहा कि नेशनल हेराल्ड केस में सोनिया गांधी और राहुल गांधी जेल जाएंगे। उन्होंने कहा कि हमारे पास गांधी परिवार की सच्चाई सामने लाने के लिए पर्याप्त सबूत हैं। मध्य प्रदेश के लोगों को गांधी परिवार का असली चेहरा देखना चाहिए। संबित पात्रा ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी को भ्रष्ट बताते हुए कहा कि हेराल्ड मामला एक क्लासिक केस है। संबित पात्रा ने कहा कि सोनिया और राहुल गांधी को इस केस में जवाबदेह बनाया जाना चाहिए और दोनों को जेल भेज देना चाहिए। उन्होंने कहा, गांधी परिवार ने मध्य प्रदेश को लूटा, दशकों तक इस परिवार ने देश को लूटने का काम किया है। मेरे पीछे नेशनल हेराल्ड की इमारत है जो भ्रष्टाचार का एक स्मारक है। नेशनल हेराल्ड केस में सोनिया गांधी और राहुल गांधी दोनों ही 50 हजार के मुचलके पर बाहर घूम रहें है। यह दोनों ही जेल से कुछ कदम दूर हैं। भाजपा चुनावी मौसम में नेशनल हेराल्ड मामले को भुनाने की कोशिश में है जबकि यह मामला कोर्ट में विचाराधीन है। इसके बाद भी भाजपा द्वारा सियासी रोटियां सेंकने के लिए इसे मुद्दा बनाया जा रहा है।
प्रेस कांफ्रें स में हुआ हंगामा
प्रेस कॉफ्रेंस के पहले अनुमति को लेकर भाजपा प्रवक्ता और कांग्रेस प्रवक्ता जेपी धनोपिया के बीच तीखी बहस हो गई। प्रेस कॉफें्रस के दौरान मीडिया ने जब पात्रा से सवाल पूछे तो वे असहज हो गए और भरी प्रेस कॉफ्रेंस बीच उठकर चले गए। मीडिया ने जब सवाल पूछे तो भाजपा कार्यकर्ता ने मीडिया कर्मी को धमकी देते हुए कहा कि संबित जी से सवाल पूछने की तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई? इस पर पत्रकार भी नाराज हो गए। इस दौरान मौके पर मौजूद पुलिस कर्मियों ने भाजपा कार्यकर्ता को गिरफ्तार कर लिया।
अनुमति से एक घंटे पहले की प्रेस कॉफ्रेंस: संबित पात्रा को प्रेस कॉफ्रेंस करने के लिए जिला प्रशासन द्वारा 1 से 3 बजे की अनुमति दी गई थी लेकिन वे 12 बजे ही प्रेस कॉफ्रेंस करने पहुंच गए। जब मौके पर मौजूदा पुलिस कर्मियों ने अनुमति के बारे में पूछा तो भाजपा नेता हक्का बक्का रह गए। और कलेक्टर व एसडीएम से बातचीत कर 1 बजे आदेश की कॉपी दिखा पाए।
कांग्रेस ने चुनाव आयोग में की शिकायत: संबित पात्रा की प्रेस कॉफ्रेंस को लेकर कांग्रेस ने निर्वाचन आयोग में शिकायत दर्ज कराई है। कांग्रेस बीजेपी पर आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाया। उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी सड़क किनारे निजी जमीन पर प्रेसवार्ता कर रही है,उन्होंने बीजेपी की प्रेस कॉफ्रेंस गैर कानूनी बताया है। पत्रकार वार्ता को लेकर कांग्रेस की मध्यप्रदेश इकाई ने चुनाव आयोग से उनके खिलाफ आचार संहिता का उल्लंघन करने की शिकायत करने के साथ ही उनके खिलाफ कार्यवाही किए जाने की मांग की है। कांग्रेस के चुनाव आयोग कार्य के प्रभारी जेपी धनोपिया, मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा, प्रदेश प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी सहित अन्य नेताओं द्वारा मध्यप्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को सौंपे गए शिकायत पत्र में आरोप लगाया गया कि पात्रा द्वारा बिना अनुमति के बीच सड़क पर रास्ता रोककर पत्रकार वार्ता आयोजित कर आदर्श आचार संहित का खुलेआम उल्लंघन किया गया है इसलिए उनके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।
उप्पल पर दर्ज होगी एफआईआर: संबित पात्रा की प्रेस कान्फ्रेंस मामले में जिला निर्वाचन अधिकारी के निर्देश पर भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व आईएएस एसएस उप्पल के खिलाफ धारा 188 के तहत कानूनी कार्रवाई की जाएगी। एसएस उप्पल के लेटर हेड पर संबित पात्रा की प्रेस कान्फ्रेंस के लिए अनुवभिागीय अधिकारी से अनुमति मांगी गई थी लेकिन पात्रा ने निर्धारित समय से एक घंटा पूर्व ही प्रेस कान्फ्रेंस कर डाली।
धारा 188 के तहत होगी कार्रवाई: खाडे: जिला निर्वाचन अधिकारी सुदाम खाडे ने कहा कि आयोजकों को 1 से 3 बजे की अनुमति दी गई थी,लेकिन उन्होंने बिना सूचना में समय परिवर्तन कर लिया। आयोजकों ने शासकीय आदेश की अवहेलना की है,इसलिए एसडीएम को उनके खिलाफ धारा 188 के तहत कार्रवाई करने को कहा गया है।