तपन भौमिक का इस्तीफा सोशल मीडिया पर वायरल

राजनीतिक संवाददाता
भोपाल, 29 अक्टूबर। मध्यप्रेदश भारतीय जनता पार्टी में टिकट को लेकर मचे घमासान के बीच पार्टी के वरिष्ठ नेता व मध्यप्रदेश पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष तपन भौमिक के इस्तीफे का पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। जिसको लेकर अचानक प्रदेश का राजनीतिक पारा चढ़ गया।
वायरल हुए पत्र में लिखा गया कि मैं बाल्यकाल से संघ की स्वयंसेवा में रहते हुए, मीसाबंदी रहते हुए, नगर, तहसील, जिला प्रचारक रहते हुए भाजपा का संभागीय संगठन मंत्री जिला संगठन मंत्री, प्रदेश कार्यालय मंत्री रहा और वर्तमान में मध्य प्रदेश पर्यटन विकास निगम का अध्यक्ष रहते हुए पूरा जीवन संघ विचार को समर्पित कर दिया। लेकिन कुछ सालों से कार्यकर्ताओं की उपेक्षा से व्यथित हूं। प्रदेश महामंत्री सुहास भगत से तीन दिन से मिलने के प्रयास में हूं, लेकिन सुरक्षाकर्मियों ने अपमानित कर अंदर भी नहीं जाने दिया। यदि मेरे साथ ऐसा हुआ है तो आम कार्यकर्ता के साथ क्या होगा। इस पत्र के वायरल होने के बाद बीजेपी में हड़कंप मच गया और प्रदेश की राजनीति गरमा गई। तपन भौमिक से जब राष्ट्रीय हिन्दी मेल ने वायरल इस्तीफे के बारे में पूछा तो उन्होंने साफ तौर पर इंकार करते हुए इसे एक साजिश करार दिया।
मैं भाजपा का निष्ठावान कार्यकर्ता हूं, मैं कभी इस्तीफा नहीं दूंगा: तपन भौमिक भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष तपन भौमिक ने सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस्तीफे पर कहा कि मैं भाजपा का महानिष्ठावान कार्यकर्ता हूं, मैं कभी इस्तीफा नहीं दूंगा, जो पत्र वायरल हो रहा है वो मेरे खिलाफ किसी ने साजिश की है। वायरल पत्र में न तो मेरी राइटिंग है और न ही मेरी लेखनी है।

यहां तक कि पत्र पर मेरे हस्ताक्षर भी नहीं हैं। जिसने भी पत्र वायरल किया है, मेरे खिलाफ साजिश की है। उन्होंने कहा कि मैं चुनाव आयोग में इसकी शिकायत करूंगा और थाने में एफआईआर भी दर्ज कराऊंगा।