उदयपुरा वि.स में दोनों ही दलों में उम्मीदवारों की फेहरिस्त

विनीत माहेश्वरी
रायसेन, २९ अक्टूबर। जिले की उदयपुरा विधानसभा क्षेत्र में किस को उम्मीदवार बनाया जाए भाजपा कांग्रेस दोनों प्रमुख राजनीतिक पार्टियों में माथा पच्ची चल रही है। क्योंकि उदयपुरा विधानसभा क्षेत्र से दावेदारी करने वाले नेताओं की संख्या सर्वाधिक नजर आ रही है और देखा जाए तो जिले में सबसे ज्यादा सक्रिय तौर पर राजनीतिक करने वाले नेता भी उदयपुरा वि.स में ही नजर आ रहे है। जिससे दोनों ही दलों को लम्बी रायशुमारी किए जाने के बाद किसको अपना उम्मीदवार बनाया जाए यह तय नहीं हो पा रहा है। उदयपुरा वि.स से भाजपा से विधायक राम किशन पटेल (कोटपार),पूर्व विधायक भगवत सिंह पटेल, राजा भैया चौधरी, नरेन्द्र पटेल तो पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष सुरेश पाठक सहित जपं अध्यक्ष मकरंद सिंह पटेल,उदयपुरा नपं अध्यक्ष केशव पटेल आदि नाम सामने आए है। वहीं कांग्रेस से बात की जाए तो पूर्व विधायक भगवान सिंह राजपूत को प्रबल दावेदार माना जा रहा है लेकिन सूत्रों की माने तो इस बार उदयपुरा सीट से पूर्व शिक्षा मंत्री राजकुमार पटेल को भी उतारा जा सकता है। वहीं इसके अलावा कांग्रेस में दवेन्द्र सिंह पटेल गडरवास, गिरिश बंटी पालीवाल, कविन्द्र रघुवंशी के नाम भी चल रहे है। वहीं राजनीति सूत्रों की माने तो इस बार भाजपा से नरेन्द्र पटैल एवं कांग्रेस से राजकुमार पटेल या भगवान सिंह राजपूत के नाम पर मोहर लग सकती है।
2लाख 25 हजार मतदाता उदयपुरा वि.स में:-
विधानसभा क्षेत्र उदयपुरा में कुल 225010 मतदाता हैं जिनमें 120942 पुरूष मतदाता, 104058 महिला मतदाता तथा 10 अन्य मतदाता शामिल हैं। वहीं वि.स क्षेत्र में 308 मतदान केन्द्र बनाए गए है। जिनमें शहरी क्षेत्र में 40 एवं ग्रामीण क्षेत्र में 268 मतदान केन्द्र बनाए गए है। वही वर्ष 2013 वि.स चुनाव की बात की जाए तो मतदाता 215005 थी,जो अब 2018 वि.स चुनाव में करीब 10005 बढ़ गई है। इसी तरह मतदान केन्द्र वर्ष 2013 में 268 थे जो अब करीब 40 बढ़ गए है।
2013 चुनाव में 5 प्रत्याशियों की जमानत हुई थी जप्त:-
वर्ष 2013 उदयपुरा वि.स से 7 प्रत्याशी मैदान में थे जिनमें 5 की जमानत जप्त हो गई थी। इस चुनाव में भाजपा से राम किशन पटेल को 90950 मत मिले थे और वो 44051 जिले की तीन सीट के मुकाबले सर्वाधिक मतों से जीत हासिल की थी। वहीं कांग्रेस से भगवान सिंह राजपूत को 46897 मतों से ही संतुष्टि करना पड़ी थी। मतों का प्रतिशत देखा जाए तो भाजपा का 61.40 प्रतिशत था और कांग्रेस का सिर्फ 31.66 पर सिमट गया था। वहीं वर्ष 2008 विस चुनाव में भगवान सिंह राजपूत को 45027 मत मिले थे और वो 1434 मतों से जीत हासिल की थी एवं भाजपा के भागवत सिंह पटेल को 43593 मतों से संतुष्टि करना पड़ी थी। जिसमें कांग्रेस का मत प्रतिशत 39.13 था और भाजपा का 37.89 था।