मतदान केंद्रों में सुरक्षा एवं बुनियादी सुविधाओं की पुख्ता व्यवस्था होगी- मुख्य सचिव

आदर्श आचार संहिता का कड़ाई से पालन होगा

राष्ट्रीय हिन्दी मेल टीम
रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव अजय सिंह 1983 बैच के वरिष्ठ आईएएस अजय सिंह ने आज कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य में दो चरणों में संपन्न होने वाले 2018 विधानसभा चुनाव के लिए प्रत्येक मतदान केंद्र को मतदाताओं के लिए संपूर्ण सुविधाओं से लैस रखा जाएगा। राष्ट्रीय हिन्दी मेल के प्रतिनिधियों से बात करते हुए मुख्य सचिव ने बताया कि प्रत्येक मतदान केंद्र में आवश्यक रुप से टॉयलेट , बिजली, पीने का पानी, बुजुर्गों के लिए रैप, व्हीलचेयर और सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे। अजय सिंह ने कहा कि जिन दूरस्थ अंचलों में टॉयलेट का निर्माण नहीं किया जा सका होगा वहां पर अस्थायी शौचालय की व्यवस्था की जाएगी। सुरक्षा के मुद्दे पर जब राष्ट्रीय हिन्दी मेल ने जब अजय सिंह से पूछा कि संवेदनशील मतदान केंद्रों में मतदान सफलतापूर्वक संपन्न होने की संभावना नहीं होगी तब क्या किया जाएगा? इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि ऐसे इलाकों में दिन भर के लिए उक्त मतदान केंद्र को अस्थायी रुप से शिफ्ट कर दिया जाता है और मतदान संपन्न करा लिया जाता है। अजय सिंह ने एक सवा के जवाब में कहा कि छत्तीसगढ़ में आदर्श आचार संहिता का कड़ाई से पालन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि कल भारत के मुख्य निर्वाचन आयुक्त ओपी रावत रायपुर में सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों की बैठक लेंगे और उनके द्वारा सुझाए गए दिशा-निर्देश का पूरी ईमानदारी के साथ पालन किया जाएगा। मुख्य सचिव से यह पूछा गया कि चुनाव के समय मतदान के पहले अवैध शराब के वितरण के संभावनाओं से कैसे निपटा जाएगा। इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि अवैध शराब की रोकथाम के लिए हमने पुख्ता इंतजाम किए है। शराब की दुकानों को मतदान के एक दिन पहले ही बंद कर दिया जाएगा। अजय सिंह ने बताया कि चुनाव संपन्न कराने के लिए हमने केंद्र सरकार से साढ़े छह सौ सुरक्षा बलों की कंपनियों की मांग की थी जिसमें साढ़े पांच सौ कंपनियां अभी तक आ चुकी है।