डकैती की योजना बना रहे बदमाशों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

क्राइम रिपोर्टर
भोपाल, 20 नवम्बर। राजधानी भोपाल के थाना स्टेशन बजरिया क्षेत्र स्थित कपड़ा मिल के पीछे से डकैती की योजना बना रहे आरोपियों को पुलिस टीम द्वारा बीती देर रात गिरफ्तार किया गया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार राजधानी भोपाल में आगामी विधानसभा चुनाव 2018 को दृष्टिगत रखते हुए शहर में सुरक्षा व्यवस्था, अपराधों की रोकथाम, फरार आरोपियों की गिरफ्तारी एवं गुंडे बदमाशों की धरपकड़ के डीआईजी भोपाल शहर धर्मेंद्र चौधरी द्वारा दिए गए विषय दिशा निर्देशों का पालन करते हुए, मुखबिर की सूचना के आधार पर थाना स्टेशन बजरिया थाना प्रभारी माधव सिंह ठाकुर ने वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन एवं सीएसपी जहांगीराबाद सलीम खान के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन कर मुखबिर की सूचना पर योजनाबद्ध तरीके से घेराबंदी कर थाना स्टेशन बजरिया क्षेत्र स्थित कपड़ा मिल की दीवार की आड़ में बैठ कर डकैती की योजना बना रहे आरोपी अरशद पिता आसिफ खान उम्र 24 साल निवासी सिकंदर कुली ऐशबाग भोपाल, आरोपी मोहम्मद शादाब पिता अब्दुल सत्तार उम्र 18 साल निवासी बाग उमराव दूल्हा ऐशबाग भोपाल, आरोपी आतिक उर्फ अत्तू पिता आशिफ उम्र 19 साल निवासी बरखेड़ी जहांगीराबाद भोपाल, आरोपी शकील शाह पिता मोहम्मद शाह उम्र 25 साल निवासी एयरपोर्ट के सामने गांधी नगर भोपाल एवं आरोपी विशाल राठौर पिता बलराम राठौर उम्र 21 साल निवासी थाना अशोक गार्डन के पीछे अशोका गार्डन भोपाल को बीती देर रात गिरफ्तार कर तलाशी लेने पर आरोपियों के कब्जे से पुलिस टीम को दो देसी कट्टा, एक पिस्टल, छह कारतूस, एक लोहे की धारदार तलवार, मिर्च पाउडर का पैकेट एवं एक टॉर्च बरामद की। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि सभी आरोपी मिलकर कपड़ा मिल में डकैती की योजना बना रहे थे। पूछताछ में आरोपी विशाल राठौर ने आरोपी मोहम्मद शादाब के साथ मिलकर बीती 15 नवम्बर की रात फरियादी आकाश अरोरा को थाना एमपी नगर क्षेत्र स्थित ज्योति चौराहे के पास रोककर 1300 रुपए की लूट करना तथा बीती 14 नवम्बर को फरियादी राजू की मोटरसाइकिल पैशन प्रो थाना गौतमनगर से चोरी करना स्वीकार किया है।
थाना स्टेशन बजरिया पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ अपराध क्रमांक 458/18 धारा 399, 402 भादवि 25, 27 आर्म्स एक्ट के तहत अपराध पंजीबद्ध कर अन्य थानों में अपराधियों के दर्ज अपराधों की जानकारी एक अतीत की जा रही है। थाना स्टेशन बजरिया पुलिस अपराधियों से अन्य मामलों में भी पूछताछ कर रही है। पुलिस का अनुमान है कि पूछताछ से आरोपियों से अन्य घटनाओं का भी खुलासा हो सकता है।