हमें लोकतंत्र की नसीहत न दे कांग्रेस : रविशंकर प्रसाद

भोपाल, 20 नवंबर। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि जिन्हें लोकतंत्र के बारे में नहीं पता वे लोग हमें लोकतंत्र की नसीहत दे रहे हैं। उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस हमें नसीहत न दें, पहले कांग्रेस पार्टी अपने आंतरिक लोकतंत्र की चिंता करें। उन्हें हमारी चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है।
उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्व. पी.वी. नरसिम्हाराव के मीडिया एडवायजर रहे संजय बारू ने एक पुस्तक लिखी है, जिसमें कांग्रेस में नेहरू-गांधी परिवार के हस्तक्षेप के बारे में विस्तार से लिखा गया है। पुस्तक का हवाला देते हुए प्रसाद ने कहा कि 1977 में जब इंदिरा जी चुनाव हारी, तब देवकांत बरुआ कांग्रेस के अध्यक्ष थे। वे इस परिवार के भक्त थे और कहते थे ‘इंडिया इज इंदिरा और इंदिरा इज इंडियाÓ। उनके बाद वामनदेव रेड्डी पार्टी के अध्यक्ष बने। लेकिन स्व. इंदिरा गांधी उन्हें पचा नहीं पाई। उन्होंने मूल कांग्रेस से अलग होकर इंदिरा कांग्रेस बनाई। स्व. इंदिरा जी के निधन के बाद उनके बेटे राजीव गांधी कांग्रेस अध्यक्ष रहे। स्व. राजीव जी हत्या के बाद पी.वी. नरसिम्हाराव कांग्रेस अध्यक्ष बने और बाद में प्रधानमंत्री भी बने। लेकिन उनके पूरे कार्यकाल के दौरान श्रीमती सोनिया गांधी पर्दे के पीछे से उन्हें और कांग्रेस को चलाना चाहती थीं। उनके बाद स्व. सीताराम केसरी अध्यक्ष बने।
उनके बाद 19 साल श्रीमती सोनिया गांधी अध्यक्ष रहीं और अब राहुल गांधी पार्टी के अध्यक्ष हैं। रविशंकर प्रसाद मंगलवार को भाजपा के मीडिया सेेंटर में पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर उन्होंने मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर हमला बोलते हुए कहा कि दिग्विजय सिंह वही हैं जो आतंकी संगठनों को प्रोत्साहित करने वाले जाकिर नाइक को शांति का दूत कहते हैं। बाटला हाउस कांड पर सवाल खड़े करते हैं।
राहुल गांधी पर साधा निशाना: रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ में नोटबंदी और जीएसटी पर सवाल उठाते हैं। नोटबंदी के दौरान 2 लाख 24 हजार फर्जी कंपनियां बंद हुई हैं। 1 करोड़ 13 लाख व्यापारियों ने जीएसटी को अपनाया है। साथ ही उन्होंने वित्तीय वर्ष 2013-14 में पूरे देश में 3 करोड़ 82 लाख आयकर दाता थे, जो वर्ष 2017-18 में बढ़कर 6 करोड़ 86 लाख हो गए। इससे 2013 -14 में 6 लाख 38 हजार करोड़ की रूपए प्राप्त हुए थे और 2017-18 में 10 लाख 2 हजार करोड़ रूपए जमा किए गए। मोदी सरकार में देश सुशासन की तरफ आगे बढ़ रहा है।
राफेल देश की जरूरत: रविशंकर प्रसाद ने राफेल डील पर कांग्रेस द्वारा उठाए जा रहे सवाल पर कहा कि देश को आज राफेल की जरूरत है, एयर फोर्स ने सरकार से भी कहा और सुप्रीम कोर्ट से भी मांग की। देश में 1985 के बाद से कोई फाइटर प्लेन नहीं आए। इसलिए देश की सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत करने के लिए राफेल का सौदा किया गया है।
14 लाख करोड़ काला धन वापस आया: रविशंकर प्रसाद ने काले धन की वापसी को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि विगत 4 सालों में 14 लाख करोड़ का काला धन वापस आ गया है। जो कि बैंकों में जमा है, उसकी अभी जांच चल रही है, जिन लोगों ने पैसा जमा किया है वो पैसा उनके पास कहां से आया है। इसके लिए सरकार अपना काम कर रही है।
राम मंदिर बनाने के लिए संकल्पित भाजपा: राम मंदिर को लेकर रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राम मंदिर बनाने के लिए हम संकल्पित हैं, मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है, हिन्दू अखाड़ा समिति और राम मंदिर न्यास समिति व मुस्लिम समुदाय के बीच जमीन का आवंटन होना है। जैसे ही सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आएगा, हम मंदिर मंदिर का निर्माण शुरू कर देंगे।