जनता कभी नहीं चाहेगी कि मध्यप्रदेश में दिग्विजय कार्यकाल का अंधियारा हो: तोमर

ग्वालियर, 26 नवंबर। मध्यप्रदेश में जब दिग्विजय की सरकार थी, तब जनता सड़क, पानी, बिजली के लिए मोहताज थी। चारों ओर अंधियारा था। प्रदेश की जनता कभी नहीं चाहेगी कि मध्यप्रदेश में 2003 जैसा फिर से अंधेरा छा जाए। 2003 के पहले कांग्रेस ने प्रदेश में और 2014 के पहले देश में 10 साल शासन किया। कांग्रेस के नेता बताए कि इन 10 वर्षों में ऐसी कौन सी उपलब्धि रही जो वह देश और प्रदेश की जनता को बता सके। कांग्रेस झूठ का सहारा लेकर जनता को गुमराह करने की असफल कोशिश कर रही है। लेकिन उसके हाथ कुछ लगने वाला नहीं है। यह बात केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने सोमवार को ग्वालियर में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कही।
तोमर ने कांग्रेस सरकार और भारतीय जनता पार्टी सरकार द्वारा किए गए कामों का तुलनात्मक ब्यौरा देते हुए कहा कि 2003 में मध्यप्रदेश की कृषि विकास दर माइनस 3 प्रतिशत हुआ करती थी, जो आज 20 प्रतिशत अधिक तक पहुंच गयी है। मध्यप्रदेश की कृषि विकास दर देश के किसी भी राज्य की विकास दर से कहीं अधिक है। उन्होंने कहा कि 2003 में कृषि उत्पादन पांच लाख मैट्रिक टन हुआ करता था। जो 15 वर्षों में 85 लाख मैट्रिक टन तक पहुंचा है। कांग्रेस के शासन में साढ़े सात लाख हेक्टेयर सिंचित रकबा था, जिसे प्रदेश के किसानों ने अथक परिश्रम करके भारतीय जनता पार्टी की सरकार में 41 लाख हेक्टेयर तक पहुंचाने का काम किया। बिजली के मामले में मध्यप्रदेश में 2003 के पहले बिजली नहीं मिलती थी, आज उसी राज्य में 18 हजार मेगावाट बिजली का उत्पादन हो रहा है। हर गांव और हर घर तक बिजली पहुंची है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने 15 वर्षों में विकास के सभी आयामों में ऐतिहासिक प्रगति हासिल की है। जिसका श्रेय मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को जाता है।
गरीबों के जीवन स्तर में बदलाव लाने के लिए शिवराज सरकार ने काम किया: तोमर ने कहा कि मध्यप्रदेश में गरीबी उन्मूलन की दिशा में महत्वपूर्ण कार्य किए हैं, संबल योजना के माध्यम से हर गरीब परिवार को शिवराज सरकार ने संबल देने का काम किया है। 2003 में प्रति व्यक्ति आय 15 हजार हुआ करती थी, जो आज बढ़कर 80 हजार हो गयी है। प्रदेश की धरती पर कोई गरीब भूखा न रहे, इसके लिए 1 रूपए किलो गेहूं, चावल और नमक सरकार ने उपलब्ध कराने का काम किया। मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना के अंतर्गत 77लाख गरीब परिवारों के बकाया बिजली बिल सरकार ने भरे। ताकि उनके घरों में त्यौहारों की रोशनी हो। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के माध्यम से महिला सशक्तिकरण की दिशा में अभिनव काम भारतीय जनता पार्टी सरकार ने किए।
2022 तक हर गरीब के पास होगा पक्का मकान: तोमर ने कहा कि प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान गरीबों के लिए काम कर रहे हैं तो देश में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गरीबी हटाने के लिए योजनाओं को संचालित कर रहे हैं। प्रधानमंत्री जी का संकल्प है कि 2022 तक शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में कोई भी गरीब व्यक्ति बेघर न रहे। इस दिशा में मुझे कहते हुए यह प्रसन्नता है कि मध्यप्रदेश सरकार ने अग्रणी भूमिका निभा रही है। उज्जवला योजना के अंतर्गत देश में 6 करोड़ गैस सिलेंडर वितरित किए गए। उनमें से 40 लाख नि:शुल्क गैस कनेक्शन मध्यप्रदेश में देने का काम भाजपा सरकार ने किया है।