सरकार 11 दिसंबर के बाद बनेगी, लेकिन मंत्रिमंडल पहले बन गया…

मध्यप्रदेश में 2018 के विधानसभा चुनाव के परिणाम 11 दिसंबर को आ जाएंगे और लगभग 16 दिसंबर तक नई सरकार शपथ ले लेगी। परंतु सूत्रों के अनुसार आश्चर्य एवं चौंकाने वाली बहस चल पड़ी है कि भाजपा और कांग्रेस दोनों दलों में एक-एक बड़े नेताओं के समर्थकों ने भावी मंत्रिमंडल का गठन कर लिया है। सूत्र तो यह भी कहते हैं हालांकि भाजपा तो मानकर चल रही है उनके नेता शिवराज ही होंगे, वे जैसा चाहेंगे, वैसा होगा। परंतु कांग्रेस में मुख्यमंत्री के दो दावेदार होने के कारण बहस की दिशा कुछ अलग है। एक वर्ग कहता है कि यदि महाकौशल को मिला नेतृत्व तो फिर फलां-फलां होंगे मंत्री तो दूसरा वर्ग कहता है यदि मध्य भारत को मिला नेतृत्व तो गुटबाजी जबरदस्त होगी…।
खबरची