कर्मचारियों को अभी तक नहीं मिला चुनाव ड्यूटी का मानदेय

चुनाव आयोग को लिखा पत्र

भोपाल, 9 दिसंबर। हाल ही संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में डयूटी करने वाले भोपाल सहित प्रदेश के कई जिलों के कर्मचारियों को अपना मानदेय नहीं मिल पाया है। चुनाव ड्यूटी करने वाले ऐसे कर्मचारियों-अधिकारियों की संख्या तकरीबन 600 से ज्यादा बताई जा रही है।
इन अधिकारी-कर्मचारियों ने चुनाव आयोग को पत्र लिखे हैं और मानदेय दिलाने की मांग की है। वहीं ज्यादातर को 26 व 27 नवंबर को मानदेय मिल चुका है। जबकि चुनाव पूर्व सभी ने एक साथ खाता क्रमांक व अन्य जानकारी निर्वाचन कार्यालयों को भेजी थी। मध्य प्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के महामंत्री लक्ष्मीनारायण शर्मा ने चुनाव आयोग को लिखे पत्र में बताया है कि अधिकतर अधिकारी, कर्मचारियों को मानदेय मिल चुका है। जिन्हें नहीं मिला है उनकी संख्या 600 से अधिक है। वे अब परेशान हैं और चक्कर काट रहे हैं। लेकिन कोई बताने को तैयार नहीं है कि उनका मानदेय कब मिलेगा और इसके लिए किससे मिलना होगा। इसके अलावा जिले के दफ्तरों में काम करने वाले दर्जनों चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को विशेष पुलिस अधिकारी की जिम्मेदारी दी थी।
ऐसे कर्मचारियों का कहना है कि उन्हें भी मानदेय नही दिया गया। मालूम हो कि चुनाव ड्यूटी करने वाले पीठासीन अधिकारियों को 1550 रुपए, निर्वाचन अधिकारी क्रमांक 1 को 1150 रुपए एवं निर्वाचन अधिकारी 2 एवं 3 को 950 रुपए मानदेय के हिसाब से भुगतान किया जा रहा है।