प्रवीण कक्कड़ विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी नियुक्त

भोपाल, 27 दिसंबर। राज्य सरकार ने आदेश जारी कर प्रवीण कक्कड़ को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी नियुक्त किया है। कक्कड़ की नियुक्ति संविदा आधार पर आगामी आदेश तक की गई है।
कक्कड़ प्रदेश कांग्रेस के विधानसभा चुनाव के लिए बने वॉर रूम के प्रभारी थे। उन्हें पुलिस सेवा में रहते हुए सराहनीय सेवाओं के लिए राष्ट्रपति पदक से सम्मानित किया जा चुका है। वे 2004 से 2011 तक केंद्रीय मंत्री रहे कांतिलाल भूरिया के विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी रह चुके हैं। राष्ट्रपति पदक से सम्मानित पूर्व पुलिस अधिकारी प्रवीण कक्कड़ का लंबा समय पुलिस सेवा में गुजरा है। पुलिस की अपनी नौकरी छोड़ वर्ष 2004 में पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया के ओएसडी के रूप में अपनी नई पारी शुरू करने वाले कक्कड़ इंदौर के सामाजिक क्षेत्र का जाना-माना नाम है। कक्कड़ केंद्रीय कृषि, उपभोक्ता मामलों एवं आदिवासी मामलों के मंत्रालय में कार्य करने का अनुभव भी रखते हैं। वर्ष 2011 में कांतिलाल भूरिया के मप्र कांग्रेस के अध्यक्ष बनाए जाने के पश्चात प्रवीण कक्कड़ ने प्रदेश कांग्रेस के चुनाव प्रबंधन एवं अन्य कार्यों को बखूबी पूरा किया। चुनाव प्रबंधन में उनकी दक्षता के कारण ही वर्ष 2015 में कांग्रेस ने झाबुआ लोकसभा उपचुनाव में उल्लेखनीय सफलता भी प्राप्त की। प्रवीण कक्कड़ की रणनीति का ही कमाल रहा है कि 2015 में झाबुआ-रतलाम सीट के उपचुनाव में कांतिलाल भूरिया जीतकर आए। मोदी लहर के दौर में उस सीट को निकालना आसान नहीं था, कांतिलाल भूरिया का भी पूरा भरोसा प्रवीण कक्कड़ पर रहा है, यही कारण है कि भूरिया ने उन्हें हमेशा फ्री हैंड दिया। कमलनाथ के बारे में कहा जाता है कि वे आदमी की काबिलियत पढऩे का विशेष गुर जानते हैं। ये कमलनाथ की ही खूबी है कि उन्होंने प्रवीण कक्कड़ की चुनावी रणनीति और प्रबंधन को समझा और उन्हें ये बड़ी जिम्मेदारी सौंपी। कक्कड़ मिलनसारिता और एकजुटता से काम करने और करवाने का गुण बखूबी जानते हैं।