हम बेवफा हरगिज न थे, पर तुम…

मध्यप्रदेश कांग्रेस के एक बड़े नेता इन दिनों अपनी ही पार्टी के भीतर चल रही अंतर्कलह की वजह से काफी चिंतित हैं। पिछले दिनों उन्होंने अपनी पीड़ा का इजहार करते हुए कहा कि यदि मैं किसी बड़े नेता का बेटा होता तो मैं भी आज मंत्री होता। बड़े नेता का बेटा नहीं होने की वजह से मुझे कमलनाथ सरकार में मंत्री नहीं बनाया गया। नेताजी जब भी पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों से मिलते हैं, वे खुलकर अपनी बात कहते हैं। लेकिन अभी तक उन्हें निराशा ही हाथ लगी है। बताया जाता है कि वे महाराज के गुट से ताल्लुक रखते हैं। उन पर यह गाना फिट बैठता है- हम बेवफा हरगिज न थे, पर तुम वफा कर न सके…। … खबरची