नेगिटिविटी फैलाना आसान, लोगों की मदद से अच्छे काम भी : मोदी

नई दिल्ली, 30 दिसंबर । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस साल में आखिरी बार मन की बात कार्यक्रम को संबोधित किया। ये मन की बात का 51वें एपिसोड था। इस कार्यक्रम के लिए पीएम ने देशवासियों से सुझाव मांगे थे। मन की बात के दौरान पीएम ने कहा कि 2018 ख़त्म होने वाला है और हम 2019 में प्रवेश करने वाले हैं। स्वाभाविक रूप से ऐसे में बीते वर्ष की बातें चर्चा में रहती हैं, साथ ही आने वाले वर्ष के संकल्प की भी चर्चा सुनाई देती है। हम ऐसा क्या करें जिससे अपने स्वयं के जीवन में बदलाव ला सकें और साथ-ही-साथ देश और समाज को आगे बढ़ाने में अपना योगदान दे सकें। पीएम ने देशवासियों से कुंभ मेले को लेकर भी अपील की। पीएम ने कहा, नकारात्मकता फैलाना काफी आसान होता है, लेकिन, हमारे समाज में, हमारे आस-पास बहुत कुछ अच्छे काम हो रहे हैं और ये सब 130 करोड़ भारतवासियों के सामूहिक प्रयासों से हो रहा है। पीएम ने कहा, च्हमारी संस्कृति में ऐसी चीज़ों की भरमार है, जिनपर हम गर्व कर सकते हैं और पूरी दुनिया को अभिमान के साथ दिखा सकते हैं और उनमें एक है कुंभ मेला। मेरा आप सब से आग्रह है कि जब आप कुंभ जाएं तो कुंभ के अलग-अलग पहलू और तस्वीरें सोशल मीडिया पर अवश्य शेयर करें ताकि अधिक-से-अधिक लोगों को कुंभ में जाने की प्रेरणा मिले। आयुष्मान भारत का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि साल 2018 में विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना आयुष्मान भारतज् की शुरुआत हुई। देश के हर गांव तक बिजली पहुंची। विश्व की गणमान्य संस्थाओं ने माना कि भारत रिकॉर्ड गति के साथ, देश को गरीबी से मुक्ति दिला रहा है। पीएम ने कहा, च्देश को एकता के सूत्र में पिरोने वाले, सरदार वल्लभभाई पटेल के सम्मान में विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटीदेश को मिली। देश को संयुक्त राष्ट्र के सर्वोच्च पर्यावरण पुरस्कार चैंपियन ऑफ द अर्थ अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। भारत में अन्तरराष्ट्रीय सौर गठबंधन की पहली महासभा च्अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन का आयोजन हुआ। हमारे सामूहिक प्रयासों का ही नतीजा है कि हमारे देश की ईज ऑफ बिजनेस डुईंग बिजनेस रैंकिंगमें अभूतपूर्व सुधार हुआ।
उन्होंने कहा, देश के सेल्फ डिफेंस को नई मजबूती मिली है। इसी वर्ष देश ने सफलतापूर्वक न्यूक्लियर ट्रायड को पूरा किया है। इसका अर्थ है कि अब हम जल, थल और नभ, तीनों में परमाणु शक्ति संपन्न हो गए हैं। देश की बेटियों ने नाविका सागर परिक्रमा के माध्यम से पूरे विश्व का भ्रमण कर देश को गर्व से भर दिया है। वाराणसी में भारत के पहले जलमार्ग की शुरुआत हुई। वॉटरवेज के क्षेत्र में नई क्रांति का सूत्रपात हुआ है।मोदी ने कहा, देश के सबसे लम्बे रेल-रोड पुल बोगीबील ब्रिज का लोकार्पण किया गया और सिक्किम के पहले और देश के 100वें एयरपोर्ट पाक्योंग की शुरुआत हुई। अंडर 19 क्रिकेट विश्व कप और ब्लाइंड क्रिकेट विश्व कप में भारत ने जीत दर्ज कराई। इस बार एशियन गेम्स में भारत ने बड़ी संख्या में मेडल जीते। पैरा एशियन गेम्स में भी भारत ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया। यह सब 130 करोड़ देशवासियों के अथक प्रयासों से संभव हो सका है।ज्मोदी ने मन की बात में उन लोगों का भी जिक्र किया, जिन्होंने अपने आसाधारण काम से लोगों के दिलों में जगह बनाई। उन्होंने कहा कि-25 दिसंबर को कर्नाटक की सुलागिट्टी नरसम्मा का निधन हो गया। सुलागिट्टी नरसम्मा गर्भवती माताओं-बहनों को प्रसव में मदद करने वाली सहायिका थीं। उन्होंने कर्नाटक के दुर्गम इलाकों में हजारों माताओं-बहनों को अपनी सेवायें दीं। इस साल की शुरुआत में उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। च्19 दिसंबर को चेन्नई के डॉ जयाचंद्रन का निधन हो गया। उनको प्यार से लोग च्मक्कल मारुथुवरज् कहते थे क्योंकि वे जनता के दिल में बसे थे। वह न सिर्फ गरीबों को सस्ता इलाज उपलब्ध कराते थे, बल्कि कई बार तो मरीजों को आने-जाने का किराया भी खुद ही देते थे।ज्ज्बिजनौर के हार्ट लंग्स क्रिटिकल सेंटर की ओर से हर महीने ऐसे मेडिकल कैंप लगाए जाते हैं, जहां कई बीमारियों की मुफ्त जांच और इलाज होता है। हर महीने सैकड़ों गरीब मरीज इस कैंप से लाभान्वित हो रहे हैं। नि:स्वार्थ भाव से सेवा में जुटे इन डॉक्टर्स का उत्साह तारीफ के काबिल है।ज्पीएम मोदी ने मन की बात में कश्मीर की कराटे चैंपियन अनाया का जिक्र करते हुए उसे शुभकामनाएं दी। इसके साथ ही बॉक्सर रजनी और उसके पिता के संघर्षों की बात कहते हुए बताया कि कैसे वह परिस्थितियों से लड़ते हुए इस मुकाम पर पहुंची।
मोदी ने की जबलपुर के 3.5 लाख लोगों की तारीफ
जबलपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने रेडिया कार्यक्रम मन की बात में जबलपुर के 3.5 लाख लोगों द्वारा 20 दिसंबर को चलाए गए स्वच्छता अभियान की तारीफ की। उन्होंने कहा कि किस तहर लाखों लोग सड़क पर उतरे और शहर को साफ करने में अपना योगदान दिया, यह बहुत ही सराहनीय है।जबलपुर नगर निगम ने स्वच्छता में शहर को नंबर वन बनाने के लिए दो घंटे तक 750 संगठनों के लाखों वालेंटिसर्स की सहायता से 100 से ज्यादा स्थानों पर सफाई की। उनका यह अभियान गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज हुआ है। 20 दिसंबर को 3.5 लाख लोग एक साथ झाड़ू-बाल्टी लेकर निकले। सभी ने मिलकर सिविक सेंटर, छोटीलाइन, भंवरताल, ग्वारीघाट, रेलवे स्टेशन, आईएसबीटी आदि क्षेत्रों को चमका दिया। साफ-सफाई में करीब 750 टन कचरा निकला, जिसे कठौंदा प्लांट भेजा गया।