पदभार ग्रहण करते ही मंत्री राजपूत ने माना सिंधिया का फरमान

सरकार ने ग्वालियर मेले में रोड टैक्स में 50 फीसदी की छूट देने का लिया निर्णय

प्रमुख संवाददाता
भोपाल,31 दिसंबर । प्रदेश के राजस्व और परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने सबसे पहले सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की मांग वाली फाइल पर साइन किए। सिंधिया ने मांग की थी कि राज्य सरकार ग्वालियर मेले को बढ़ावा देने के लिए रोड टैक्स में 50 फीसदी की छूट दी जाए। मंत्री राजपूत ने कार्यभार संभालते ही उनकी मांग को पूरा कर दिया।
जानकारी के अनुसार परिवहन मंत्री राजपूत ने सोमवार को अपना पदभार संभालते ही सबसे पहले रोड टैक्स में छूट देने वाली फाइल पर साइन किए। इसके साथ ही मंत्री गोविंद सिंह ने कहा कि ग्वालियर मेले का इतिहास वैभवशाली रहा है, लेकिन बीजेपी के सत्ता में आने के बाद मेले को दी जाने वाली टैक्स में छूट को बंद कर दिया था। इस वजह से ग्वालियर मेले की रौनक कम हुई है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के सत्ता में आने के बाद अब फिर मेले के लिए छूट दी जा रही है।इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार ग्वालियर मेले में रोड टैक्स में 50 फीसदी की छूट देने जा रही है, जिसका प्रस्ताव तैयार कर लिया गया है और इसको मंत्रिमंडल की बैठक में रखा जाएगा। वहीं उन्होंने पटवारियों की संख्या भी बढ़ाने के लिए कहा है। उन्होंने मीडिया से चर्चा के दौरान कहा कि प्रदेश में तीन हल्कों पर एक पटवारी है। इससे किसान परेशान होते हैं। वहीं पटवारियों को भी इधर से उधर जाने का बहाना मिल जाता है। जिससे वह समय पर काम को अंजाम नहीं दे पाते। इसलिए हम कोशिश करेंगे कि पटवारियों की संख्या बढ़ाई जाए। जिससे किसान और जनता को परेशान नहीं होना पड़े। गौरतलब है कि सांसद ज्योतिराज सिंधिया ने पिछले दिनों कमलनाथ को पत्र लिखकर मांग की थी कि ग्वालियर मेले को पुराने स्वरूप में लाने के लिए टैक्स में छूट दी जाए।