कमलनाथ की सरकार 100 प्रतिशत मजबूत, हम साथ-साथ: ज्योतिरादित्य सिंधिया

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पर कटाक्ष करते हुए कहा, कहां गया अंगद का पांव

 

विशेष साक्षात्कार
विजय कुमार दास

नई दिल्ली। मध्यप्रदेश कांग्रेस के 2018 विधानसभा चुनाव में चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष के रूप में अहम भूमिका निभाने वाले सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को इस बात का गर्व है कि कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने और सभी नेताओं ने गुटबाजी का मिथक तोड़कर 15 वर्षों से मध्यप्रदेश में काबिज भारतीय जनता पार्टी की भ्रष्ट सरकार को उखाड़कर फेंक दिया है। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कहां गया अंगद का पांव? ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के कुछ नेता यह भ्रम पालकर चल रहे हैं कि कांग्रेस के मुख्यमंत्री कमलनाथ और कांग्रेस की सरकार मध्यप्रदेश में मजबूत नहीं है, मजबूर सरकार है। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दावा किया कि मध्यप्रदेश में राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस ने जो सफलता पाई है, वह अद्वितीय है और मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व में मध्यप्रदेश की सरकार 100 प्रतिशत मजबूत है। उसकी एक ईंट भी कोई हिला नहीं सकता। उल्लेखनीय है कि आज ज्योतिरादित्य सिंधिया का जन्मदिन था, जिसको उनके हजारों समर्थकों, 38 विधायकों तथा मंत्रियों ने हर्षोउल्लास के साथ मनाया। इसी बीच राष्ट्रीय हिन्दी मेल के इस प्रतिनिधि से जन्मदिन की शुभकामनाएं लेते हुए श्री सिंधिया ने कहा कि विजय कुमार जी भाजपा को भ्रम हो गया है और वे लोग साजिश कर रहे हैं कि किसी भी तरह से मध्यप्रदेश में कमलनाथ की अगुवाई में चल रही सरकार का मनोबल टूट जाए, लेकिन ऐसा हो नहीं सकता। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस के एक भी विधायक और तो और कोई भी कार्यकर्ता इधर से उधर नहीं हो सकता। कमलनाथ के नेतृत्व में मध्यप्रदेश में हमारी सरकार 100 प्रतिशत मजबूत है। जब सिंधिया से यह सवाल पूछा गया कि क्या विधानसभा के अध्यक्ष के आगामी 8 जनवरी को होने वाले चुनाव में क्रॉस वोटिंग की संभावना है तो श्री सिंधिया ने इस सवाल के जवाब में कहा कि कांग्रेस का कोई भी विधायक क्रॉस वोटिंग कर ही नहीं सकता। श्री सिंधिया ने बताया कि उन्होंने सभी विधायकों एवं सभी मंत्रियों को आगाह किया है कि भाजपा की साजिश में न उलझे। इसलिए सिंधिया ने यह भी कहा कि अब तो कमलनाथ की सरकार के काम और जनता के प्रति ऐतिहासिक फैसलों का आनंद लेने का समय आ गया है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की 15 वर्षों की शिवराज सरकार में जनता त्रस्त हो चुकी थी और इसी का परिणाम है कि बदलाव की आंधी चली और कांग्रेस 15 साल बाद सत्ता में वापस लौट गई। जब सिंधिया से पूछा गया कि बहुमत पूरा नहीं हुआ है और निर्दलीय विधायकों का समर्थन बार-बार डगमगाने वाला और ऐसी खबरें आती हैं कि निर्दलीय विधायक नाराज हो गए हैं मंत्री नहीं बनाने से तो इसका क्या इलाज है? सिंधिया ने इस सवाल के जवाब में कहा कि निर्दलीय विधायक कोई भी नाराज नहीं है। हमने सबसे बात कर ली है, रहा सवाल छतरपुर के बबलू शुक्ला का तो वे उनसे मिलके गए हैं और वादा किया है कि वे कांग्रेस के साथ ही रहेंगे और कमलनाथ की सरकार का पूरा समर्थन करेंगे। जब सिंधिया से यह पूछा गया कि आपके गुट के कई विधायक आपको मुख्यमंत्री नहीं बनाए जाने से नाराज थे, उनका क्या होगा? इस सवाल के जवाब में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा मेरा कोई गुट नहीं है, काग्रेस में सोनिया जी और राहुल गांधी जी के अलावा किसी का गुट नहीं है। मध्यप्रदेश में सभी गुट एक साथ है और कमलनाथ जी की सरकार को सुचारु ढंग से चलाने में मेरे जिस तरह के सहयोग की आवश्यकता पड़ेंगी, मैं हमेशा तत्पर रहूंगा। जब ज्योतिरादित्य सिंधिया से आखरी सवाल यह पूछा गया कि कमलनाथ की सरकार कितने साल चलेंगी और लोकसभा में कांग्रेस का प्रदर्शन कैसा होगा? इस सवाल के जवाब में श्री सिंधिया ने दो टूक जवाब दिया, और कहा कि कमलनाथ जी की सरकार पूरे पांच साल चलेंगी और राहुल गांधी के नेतृत्व में मध्यप्रदेश में आगामी लोकसभा चुनाव में 20 से अधिक लोकसभा क्षेत्रों में हम चुनाव जितेंगे।