त्राल में मुठभेड़, 3 आतंकी ढेर, जवान शहीद

श्रीनगर, 3 जनवरी। दक्षिण कश्मीर के त्राल (पुलवामा) में गुरुवार को हुई एक भीषण मुठभेड़ में तौसीफ समेत तीन आतंकी मारे गए। तौसीफ एमएससी मैथेमेटिक्स था और जब वह आतंकी बना था तो वह अनंतनाग स्थित एक कॉलेज में बीएड की पढ़ाई कर रहा था। मुठभेड़ के दौरान सेना का एक जवान शहीद व तीन अन्य घायल हो गए। इस दौरान आतंकी ठिकाना भी तबाह हो गया। मुठभेड़ के दौरान आतंकियों को बचाने के लिए हिंसक हुए आतंकी समर्थक तत्वों व सुरक्षाकर्मियों के बीच हिंसक झड़पों में 11 लोग जख्मी हो गए। हिंसा पर काबू पाने के लिए सुरक्षाबलों को हवाई फायरिंग का भी सहारा लेना पड़ा। इनमें से छह पैलेट गन से घायल बताए जा रहे हैं। हालात को देखते हुए प्रशासन ने त्राल, अवंतीपोरा और पुलवामा के विभिन्न हिस्सों में निषेधाज्ञा लागू करने के साथ ही, मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को भी अगले आदेश तक बंद कर दिया है। वर्ष 2019 में सुरक्षाबलों व आतंकियों के बीच यह पहली मुठभेड़ है। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) मुनीर अहमद खान ने बताया कि त्राल मुठभेड़ में मारे गए तीनों आतंकी स्थानीय हैं। इनमें एक जैश-ए-मोहम्मद का जुबैर अहमद बट उर्फ अबु हुरैरा, जबकि अन्य दो हिजबुल मुजाहिदीन के अदफार फैयाज पर्रे उर्फ अबु जरार और तौसीफ अहमद ठोकर उर्फ अबु तल्हा हैं। उन्होंने बताया कि हमने स्थानीय लोगों से आग्रह किया है कि वह मुठभेड़ स्थल पर न जाएं, क्योंकि वहां जिंदा विस्फोटक बिखरे हो सकते हैं। अलबत्ता, उन्होंने मुठभेड़ में सैन्यकर्मी की शहादत पर कुछ भी नहीं कहा।