नए स्वरूप में अब वन्दे-मातरम् गायन

पुलिस बैण्ड के साथ शौर्य स्मारक से आम जनता भी
पहुंचेगी गायन कार्यक्रम में वल्लभ भवन

भोपाल, 3 जनवरी। राज्य शासन द्वारा नए स्वरूप में भोपाल में वन्दे-मातरम् गायन की व्यवस्था की गई है। नयी व्यवस्था में शौर्य स्मारक से प्रात: 10.45 बजे प्रारंभ होकर पुलिस बैण्ड राष्ट्रीय भावना जागृत करने वाले गीतों की धुन बजाते हुए वल्लभ भवन पहुंचेगा। आम जनता भी पुलिस बैण्ड के साथ चल सकेगी। पुलिस बैण्ड और आम जनता के वल्लभ भवन पहुंचने पर राष्ट्रीय गान जन-गण-मन और राष्ट्रीय-गीत वन्दे-मातरम गाया जाएगा। वल्लभ भवन प्रांगण में राज्य शासन के अधिकारी-कर्मचारी भी वंदे-मातरम् कार्यक्रम में शामिल होंगे। नए स्वरूप में वन्दे मातरम् गायन का यह कार्यक्रम प्रत्येक माह के प्रथम कार्य-दिवस पर ही होगा। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री सहित राज्य मंत्रिपरिषद् के सदस्य क्रम से शामिल होंगे। संभाग/जिला मुख्यालय पर भी कार्यक्रम प्रतिमाह के कार्य दिवस पर कार्यालय प्रारंभ होने के तत्काल पूर्व समारोहपूर्वक आयोजित किया जाएगा। इसमें राष्ट्रगान और राष्ट्रगीत का गायन होगा। नये स्वरूप में कार्यक्रम को आकर्षक बनाकर आम-जनता को इसमें शामिल होने के लिये प्रोत्साहित किया जाएगा। आम जनता की भागीदारी से वन्दे मातरम गायन का यह कार्यक्रम भोपाल के आकर्षण के बिन्दुओं में से एक बन सकेगा। उल्लेखनीय है कि इसके पूर्व वन्दे मातरम गायन का कार्यक्रम राज्य शासन के सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा प्रत्येक माह के प्रथम कार्य-दिवस को सिर्फ शासकीय अधिकारी/कर्मचारियों की सहभागिता से ही किया जाता था। अब कार्यक्रम में पुलिस बैण्ड और आम जनता की सहभागिता भी सुनिश्चित की गई है।
वंदेमातरम् रोकने के पीछे किसकी मंशा थी: पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि वंदेमातरम् गायन पर कांग्रेस सरकार ने जनदबाव में निर्णय ले लिया है, लेकिन ये सवाल अभी भी अनुत्तरित है कि वंदेमातरम् रोकने के पीछे राहुल गांधी की मंशा थी या खुद मुख्यमंत्री कमलनाथ का निर्णय, इसका जवाब प्रदेश को मिलना ही चाहिए। मेरा मध्यप्रदेश सब देख रहा है। उन्होंने कहा कि हम सभी 7 जनवरी को मंत्रालय परिसर में वंदेमातरम् का गायन करेंगे। आप सभी इसमें अवश्य शामिल हों। हमारी नजर अगले महीने की एक तारीख पर भी बनी रहेगी। कांग्रेस को समझना होगा कि वंदेमातरम् दलीय राजनीति से ऊपर है। सरकारों के आने-जाने से इसे प्रभावित नहीं किया जाना चाहिए।