अपराधों पर कड़ा नियंत्रण हो और पुलिस का चेहरा साफ हो: बाला बच्चन

पुलिस बल की कमी दूर करने शुरू की गई भर्ती प्रक्रिया

ऋषिकांत सिंह (रजत) परिहार, 9425002527
भोपाल, 10 जनवरी। मध्यप्रदेश में अवैधानिक गतिविधियों पर सख्ती से लगाम लगाई जाएगी। प्रदेश के किसी भी जिले से शिकायत मिलती है तो पुलिस अधीक्षक को जवाब देना होगा। प्रदेश में अवैध उत्खनन, अवैध शराब, अवैध रेत खनन जैसी शिकायतें मिल रही हैं, इन शिकायतों की सीधी जिम्मेदारी अब जिलों में पदस्थ पुलिस अधीक्षक की होगी। यह कहना है मध्यप्रदेश के गृह एवं जेल मंत्री बाला बच्चन का। उन्होंने गुरूवार को राष्ट्रीय हिन्दी मेल के इस प्रतिनिधि से एक विशेष चर्चा में कहा कि अक्सर हमें शिकायत मिलती है कि आबकारी और खनिज के काम पुलिस द्वारा किए जाते हैं। यदि कहीं से अवैध खनन हो रहा है तो खनिज विभाग के अधिकारियों को कार्रवाई करनी चाहिए, लेकिन वहां पुलिस के जवान कार्रवाई करते हैं। अवैध परिवहन होने पर भी पुलिस की भूमिका सामने आती है, अन्य अवैधानिक कामों में पुलिस का उपयोग न हो, इसके लिए सभी जिला पुलिस अधीक्षक को भी निर्देशित किया गया है। प्रदेश में बेहतर कानून-व्यवस्था देना प्रदेश सरकार की पहली प्राथमिकता है। जिसे लेकर पहले ही प्रमुख सचिव गृह मलय श्रीवास्तव और पुलिस महानिदेशक ऋषि कुमार शुक्ला को अवगत करा दिया गया है। साथ ही इस विषय पर आज वरिष्ठ अधिकारियों के साथ विस्तृत चर्चा की। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार ने अपने वचन पत्र में प्रदेश की जनता से जो वादे किए हैं, उन्हें पूरा किया जाएगा। बाला बच्चन पहले भी अधिकारियों को इस बात का अल्टीमेटम दे चुके हैं कि अब किसी भी कीमत पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी। उन्होंने कहा कि जनता में सुरक्षा का भाव लाने और पुलिस की छवि को सुधारने पर भी जोर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि थानों में महिलाओं को रिपोर्ट दर्ज कराने में दिक्कत आती है। ऐसे में सभी थानों में महिला पुलिस कर्मियों की तैनाती की जाएगी। मध्यप्रदेश में पुलिस बल की कमी के सवाल पर बाला बच्चन ने कहा कि प्रदेश में पुलिस बल की कमी दूर करने के लिए भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। भर्ती प्रक्रिया आगे भी निरंतर जारी रहेगी। बाला बच्चन ने पटरी से उतरी कानून-व्यवस्था को फिर से ट्रैक पर लाने की बात कही है।
गृहमंत्री बाला बच्चन ने कहा कि शिवराज सरकार में बने तमाम आयोग की रिपोर्ट का अध्ययन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि परफॉर्मेंस के आधार पर पुलिस अधिकारियों के ट्रांसफर-पोस्टिंग की जाएगी। बाला बच्चन ने गुरूवार को विधानसभा सत्र के बाद मंत्रालय में विभाग की समीक्षा बैठक भी की। बैठक में उन्होंने पुलिस अधीक्षकों से फोन पर अवैध उत्खनन और परिवहन में हस्तक्षेप नहीं करने के निर्देश दिए। क्योंकि अवैध उत्खनन और परिवहन को रोकने का काम खनिज विभाग व परिवहन विभाग का होता है। लेकिन उक्त कामों में पुलिस के जवानों की सक्रिय भूमिका दिखाई देती है। जिस पर सख्ती से नियंत्रण किया जाएगा।