ग्रामीणों के जीवन स्तर में सुधार लाना मेरी प्राथमिकता: कमलेश्वर पटेल

मनरेगा के तहत होंगे ग्राम पंचायतों के निर्माण कार्र् ं

हृदेश धारवार, 9755990990
भोपाल, 11 जनवरी। ग्रामीणों के जीवन स्तर में सुधार लाना मेरी पहली प्राथमिकता है। व्यवहारिक योजनाओं से ही ग्रामीणों के जीवन में बदलाव संभव है। यह कहना है मध्य प्रदेश के पंचायत व ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल का। कमलेश्वर पटेल ने शुक्रवार को मंत्रालय में राष्ट्रीय हिन्दी मेल के इस प्रतिनिधि से विशेष चर्चा में कहा कि सिर्फ व्यवहारिक योजनाओं से ही ग्रामीणों के जीवन स्तर में सुधार लाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत का विकास मास्टर प्लान बनाकर किया जाएगा। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग को ग्राम स्तर पर मास्टर प्लान बनाने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि ग्राम स्तर पर रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए मनरेगा के तहत निर्माण कार्य कराए जाएंगे, ताकि लोगों को रोजगार मिल सके।
उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों से होने वाला पलायन भी एक बड़ी समस्या है, ग्रामीणों को रोजगार के अवसर नहीं मिलते, जिसकी वजह से वे दूसरे शहरों का रूख करते हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में जो घोषणाएं की थी, उन्हें प्राथमिकता से पूरा किया जाएगा। उन्होंने ग्राम पंचायत स्तर पर बनने वाली गौ-शाला के सवाल के जवाब में कहा कि गौ-शाला खोलने का काम चार विभाग के समन्वय से किया जाएगा। इसमें राजस्व विभाग, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, पशुपालन विभाग, वित्तीय विभाग की अहम भूमिका है। ग्राम पंचायतों में गौ-शाला के लिए भूमि चिन्हित करने का काम किया जा रहा है। कमलेश्वर पटेल ने कहा कि विभाग में अच्छा कार्य करने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों को सम्मानित किया जाएगा और लापरवाही करने वालों पर सख्त कार्रवाई भी की जाएगी। उन्होंने कहा कि विभाग का काम ग्राउंड लेवल पर दिखना चाहिए। पूर्व में सरकार ने जो योजनाएं शुरू की थीं, वे व्यवहारिक रूप से सफल नहीं हो सकी। उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार के स्वच्छता अभियान पर कहा कि केंद्र सरकार ने खुले में शौचालय मुक्त योजना के तहत शौचालय तो बनवा दिए, लेकिन आज भी बड़ी संख्या में ऐसे लोग हैं, जो उन शौचालय का इस्तेमाल नहीं करते। क्योंकि वहां पानी की किल्लत है, पानी की व्यवस्था नहीं होने से यह योजना भी पूरी तरह सफल नहीं हो सकी। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार का मुख्य फोकस है कि जो सुविधा जिसके लिए है, उनको उसका लाभ मिले।