अजय सिंह बनेंगे प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष!

राष्ट्रीय हिन्दी मेल से कहा-पुख्ता खबर आने तक आप मुझे बधाई मत दीजिए
हृदेश धारवार, 9755990990
भोपाल,13 जनवरी। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष को लेकर दिल्ली में तेजी से घटनाक्रम शुरू हो गया है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने लगातार दिग्वियज सिंह से और अजय सिंह से इस मामले में चर्चा की है। लेकिन समझा जाता है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया अब तक अजय सिंह के नाम पर सहमत नहीं हुए हैं। आज ज्योतिरादित्य सिंधिया दिल्ली पहुंचेंगे और कल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात करेंगे। सिंधिया के सूत्रों का कहना यह है कि जिस विंध्य प्रदेश में कांग्रेस पूरी तरह हार गई है, यदि वहीं के नेता को प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया जाता है तो 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए संदेश गलत जा सकता है। लेकिन उनका यह भी कहना है कि मुख्यमंत्री कमलनाथ कहते हैं कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष उनकी पसंद का होना चाहिए और उनकी सहमति से होना चाहिए तो उसमें कोई गलत बात नहीं है। इसलिए सिंधिया के सूत्रों का कहना है कि अजय सिंह के अलावा भी किसी निर्विवाद चेहरे के नाम पर भी चर्चा हो सकती है। जिसको सभी गुटों का समर्थन प्राप्त हो। लेकिन मुख्यमंत्री कमलनाथ के सूत्रों का कहना यह है कि कमलनाथ ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से स्पष्ट कह दिया है कि मैं अजय सिंह के साथ ज्यादा कम्फर्ट हूं। लेकिन यह तो वक्त बताएगा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी क्या फैसला करते हैं? हो सकता है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ऐसा फैसला करें, जिसके लिए दोनों सहमत हो जाएं ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ।
पहले यह बात मानी जा रही थी कि कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया को ही प्रदेश कांग्रेस कमेटी की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। लेकिन बताया जाता है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने स्वयं ज्योतिरादित्य सिंधिया से कहा कि उन्हें दिल्ली में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी में उनकी जरूरत है, इसलिए उन्हें प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी
सौंपने को तैयार नहीं हैं। ऐसी स्थिति में दो बातें सामने आ सकती है कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया की सहमति से बने और उसमे कमलनाथ को आपत्ति न हो तो फिर अजय सिंह के अलावा निर्विवाद किसी व्यक्ति के बारे में विचार हो सकता है। इसकी संभावना कम इसलिए है क्योंकि अजय सिंह को लेकर बात बहुत आगे बढ़ चुकी है। सूत्रों का यह कहना है कि कमलनाथ और दिग्विजय सिंह ने अजय सिंह पर दांव इसलिए खेला हुआ है, क्योंकि बात अजय सिंह पर नहीं बनी तो मामला अरूण यादव पर जाकर टिक सकता है और अरूण यादव के लिए संभवत: ज्योतिरादित्य सिंधिया भी तैयार हो जाएंगे। इससे मुख्यमंत्री कमलनाथ को भी किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं होगी। हलांकि भोपाल में फेसबुक पर लगातार यह खबरें चल रही हैं कि मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष अजय सिंह को बना दिया गया है। और तो और दिग्विजय सिंह के बेटे एवं नगरीय प्रशासन मंत्री जयवद्र्धन सिंह ने तो पुरानी फोटो लगाकर बधाई भी दी है और कहा कि अजय सिंह मेरे पिता तुल्य हैं और उन्हें प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष बनाए जाने पर बधाई। उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को यह संदेश देने की कोशिश की है कि अध्यक्ष के मामले में अंतत: दिग्विजय सिंह भारी पड़े।
जब राष्ट्रीय हिन्दी मेल ने आज अजय सिंह से चर्चा की तो उन्होंने कहा कि यह तो अफवाह है, जब तक पुख्ता खबर नहीं आ जाए, मुझे बधाई मत दीजिए।