शांति और सद्भाव के लिए अच्छा साहित्य जरूरी : पीसी शर्मा

भोपाल लिटरेचर एण्ड आर्टस फेस्टीवल का समापन

भोपाल, 14 जनवरी। जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री पी.सी. शर्मा ने अच्छे साहित्य को शांति और सद्भाव के लिए बहुत आवश्यक बताया है। उन्होंने भारत भवन में प्रथम भोपाल लिटरेचर एण्ड आर्टस फेस्टीवल में यह बात कही। तीन दिवसीय फेस्टीवल में 100 से अधिक लेखकों, पर्यावरणविदों, वरिष्ठ लोक सेवकों, पत्रकारों और कलाकारों ने हिस्सा लिया। जनसम्पर्क मंत्री शर्मा ने कहा किभारत भवन में प्रवेश करते ही एक अलग अनुभूति होती है। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री स्व. अर्जुन सिंह के कला के प्रति प्रेम और अध्ययन की रूचि को स्मरण करते हुए भारत भवन को उनके कार्यकाल की ऐतिहासिक स्मृति बताया। शर्मा ने समारोह में उपस्थितजनों को एक गुलदस्ते की संज्ञा देते हुए कहा कि वे देश-विदेश से आए हुए कलाकारों, साहित्यकारों को देख बहुत आनंदित हैं। भोपाल में इस आयोजन ने खुशबू बिखेरी है। प्रदेश सरकार इस प्रकार के आयोजनों के लिए हर संभव सहायता करेगी। उन्होंने भव्य आयोजन के लिए आयोजकों को बधाई दी।
काफी-टेबिल बुक भोपाल- इकोज ऑफ एन ऐरा का विमोचन : जनसम्पर्क मंत्री शर्मा ने समापन समारोह में अन्य अतिथियों के साथ संगीतज्ञ जो अलवारिस द्वारा लिखी गई काफी-टेबिल बुक भोपाल-इकोज ऑफ एन ऐरा का विमोचन किया।
समापन समारोह में भारत निर्वाचन आयोग के पूर्व आयुक्त एस.वाय. कुरैशी, पद्मश्री रतन थियाम, राघव चन्द्रा, सुश्री मीरा दास, वरिष्ठ पत्रकार अभिलाष खांडेकर, रवीन्द्र चौबे, सचिव संस्कृति श्रीमती रेनू तिवारी मौजूद थे।