मैनचेस्टर यूनाइटेड को पछाड़ रियाल मैड्रिड बना सबसे अमीर क्लब

मुंबई, 25 जनवरी। इंग्लैंड के फुटबॉल क्लब मैनचेस्टर यूनाइटेड को पीछे छोड़ते हुए स्पेन का रियाल मैड्रिड दुनिया का सबसे अमीर क्लब बन गया है। रियाल मैड्रिड ने साल 2017-18 में 6075 करोड़ का रेवेन्यू प्राप्त किया है। रियाल मैड्रिड के बाद दूसरे नम्बर पर स्पेन का बार्सिलोना क्लब है जिसक राजस्व 5580 करोड़ रुपए है। यहां गौर करने वाली बात है कि जहां बार्सिलोना क्लब दूसरे नम्बर पर कायम है वहीं मैनचेस्टर यूनाइटेड 2 अंक खिसक कर तीसरे स्थान पर पहुंच गया है। ब्रिटेन की अकाउंटेंसी फर्म डेलॉय ने दुनिया के 20 सबसे अमीर फुटबॉल क्लब्स की लिस्ट जारी की है। डेलॉय द्वारा जारी की गई इस रिपोर्ट में जो क्लब शामिल हैं, उनकी कुल कमाई 68 हजार 640 करोड़ रुपए है जो पिछली बार की तुलना में 6त्न ज्यादा है। इन क्लबों की कमाई का विश्लेषण ब्रॉडकास्टिंग राइट्स, कमर्शियल डील्स, मैच के दिन का रेवेन्यू, टिकट से कमाई आदि के आधार पर किया गया है। क्लब की कमाई का बड़ा हिस्सा ब्रॉडकास्टिंग से आता है जो 43 प्रतिशत है।
2050 में स्न-1 रेस : बदलेंगे कार डिजाइन, 300 मील की रफ्तार और फ्लाई ब्रिज होगा मुख्य आकर्षणजालन्धर, 25 जनवरी। टेक्नोलॉजी का सबसे पहले असर खेल जगत में ही देखने को मिलता है। इसी कड़ी में मशहूर कार निर्माता कंपनी मैक्लेरेन ने अपनी नई कांसेप्ट कार की झलक सार्वजनिक कर दी है। दरअसल कंपनी का मानना है कि 2050 तक कार के डिजाइन से लेकर रेस ट्रैक आदि सब बदल जाएंगे। ऐसे में प्रतिस्पर्धा में बने रहने के लिए भारी बदलाव करने होंगे ताकि दर्शकों का पूरा मनोरंजन हो सके। मैक्लेरेन ने तो बाकायता अपने इंस्टाग्राम अकाऊंट पर फार्मूला-1 के लिए अपनी कार का डिजाइन भी शेयर किया है। पीले-केसरी रंग की इस कार के टायरों में एलईडी लगी हुई है। इसकी शेप आकर्षक है। ऊपर से लाइट बॉडी और बड़े टायर कार को और भी तेज गति देने में सक्ष्म होंगे। मैक्लेरेन ने उक्त पोस्ट के साथ कैप्शन दी है कि 2050 का विजन। फैंस को समर्पित। फ्यूचर ग्रैंड प्रिक्स। मैक्लेरेन के फोटो शेयर करते ही सोशल साइट्स पर लोगों ने बड़ी कार निर्माता कंपनियों के फ्यूचर कांसेप्ट कार के डिजाइन भी शेयर करने शुरू कर दिए।
कहा गया- 2050 तक फार्मूला-1 गाडिय़ां बैटरी से चलेंगी। इसकी स्पीड 300 मील से भी ज्यादा हो जाएगी। ड्राइवर के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजैंस को-पायलट की भी सुविधा होगी जैसा कि हॉलीवुड फिल्मों में स्पेसशिप में बैठे अभिनेता को मिलती हैं।