संभावित यात्रा के नाम पर निकाले थे 9 लाख रूपए

माखनलाल विवि के पूर्व कुलपति कुठियाला का कारनामा

भोपाल, 11 फरवरी। माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति बृजकिशोर कुठियाला की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। मध्यप्रदेश शासन ने विश्वविद्यालय में हुई फर्जी भर्ती व आर्थिक अनियमितता को लेकर अपनी जांच तेज कर दी है। जांच के दौरान यह भी सामने आया है कि बृजकिशोर कुठियाला ने कुलपति रहते हुए अपनी संभावित यात्रा के नाम पर निजी बैंक खाते में 9 लाख रूपए एडवांस में जमा कर लिए थे, यात्रा के बाद वे बिल लगाकर राशि एडजस्ट करते रहे। राज्य शासन ने विषय की गंभीरता को देखते हुए जांच शुरू कर दी है। मुख्यमंत्री सचिवालय से जुड़े सूत्रों ने बताया कि शासन अपने स्तर पर जांच शुरू कर दी है। अगले दो से तीन दिन में जांच प्रतिवेदन शासन के पास भेज दिया जाएगा। इस मामले को लेकर कांग्रेस ने विश्वविद्यालय प्रबंधन पर आरोप लगाया है कि यहां पर संघ से जुड़े लोगों को उपकृत करने के लिए बड़े स्तर पर गड़बड़झाला किया गया है, जिसकी जांच की जा रही है।