मासूम का अपहरण, दुष्कर्म और हत्या के दोषी को दोहरे मृत्युदंड की सजा


बुरहानपुर। गांव मोहद में करीब साढ़े तीन साल की मासूम का अपहरण, दुष्कर्म और पकड़े जाने के डर से उसकी निर्मम हत्या कर शव फेंकने के जुर्म में विजय उर्फ पिंट्या (35) को कोर्ट ने अलग-अलग धाराओं में आजीवन कारावास, दोहरे मृत्युदंड की सजा सुनाई है। विशेष न्यायाधीश राजेश नंदेश्वर ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए खंडवा जेल में बंद विजय के खिलाफ यह फैसला सुनाया। यह जघन्य वारदात 15 अगस्त, 18 को शाहपुर थाना क्षेत्र में हुई थी। पुलिस द्वारा आरोपित को गिरफ्तार कर चालान पेश करने के पांच माह के भीतर कोर्ट का यह फैसला आया है।