भूपेश बघेल और कमलनाथ बने राहुल गांधी के रोल मॉडल


हर सभाओं में करते हैं उनके कामों की तारीफ़

समाचार विश्लेषण
विजय कुमार दास

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के काम करने के तरीकों से इतने प्रभावित हैं कि अपनी हर चुनावी आमसभाओं में उनके फैसलों का जिक्र करते-करते नहीं थकते। कारण भी स्पष्ट है कि सत्ता सम्हालते ही इन दोनों मुख्यमंत्रियों ने चुनाव में किये अपने वादों को पूरा करने की दिशा में बड़ी तेजी से कदम बढ़ाया है। ओडिशा, उत्तरप्रदेश, बिहार और गुजरात की आमसभाओं में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ को कांग्रेस पार्टी के नेताओं में जनता से किए गए वायदे को निभाने की अद्भुत क्षमता है। राहुल गांधी ने कल उड़ीसा में भूपेश बघेल का अपने भाषण में 10 बार नाम लिया और कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी पार्टी ने 5 पूंजीपतियों को जिसमें नीरव मोदी, अनिल अंबानी, विजय माल्या, ललित मोदी सहित 15 उद्योगपतियों पर देश की जनता के गाढ़ी कमाई के साढ़े तीन लाख करोड़ रुपए लुटा दिए। उन्होंने कहा कि जब से नरेन्द्र मोदी सत्ता में है वे अपने आप को चौकीदार बताते हैं लेकिन देश का चौकीदार किसकी चौकीदारी करता है यह आप बेहतर ढंग से समझ लिजिए। उन्होंने कहा कि देश का किसान कर्ज में डूब कर रोज आत्महत्या करता है जिसकी चिंता नरेन्द्र मोदी की सरकार को नहीं है लेकिन हमको है। राहुल गांधी ने कहा कि हमने छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और राजस्थान के किसानों से 10 दिन के अंदर कर्जा माफ करने का वादा किया था उसे छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने शपथ लेने के 1 घंटे के भीतर ही पूरा कर दिया। राहुल गांधी ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के फैसले की भी तारीफ की और उड़ीसा के लाखों लोगों के सामने सभा में उन्होंने स्पष्ट कहा कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री और मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कांग्रेस के लिए रोल मॉडल की तरह है और हम लोकसभा में सत्ता में आए तो पूरे देश के किसानों का वैसा ही हित संरक्षण करेंगे जैसा कि छत्तीसगढ़ में किया है। राहुल गांधी ने कहा कि उड़ीसा राज्य धान का कटोरा कहलाने वाला राज्य है जहां किसान आत्महत्या पर उतारु है लेकिन कांग्रेस सत्ता में आई तो ऐसा नहीं होगा। हम वैसा ही करेंगे जैसा कि हमारे छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने धान की कीमत 10 घंटे में 1600 से बढ़ाकर 2500 कर दी हम यहां पर भी वहीं करेंगे और पूरे देश में करेंगे। पटना के गांधी मैदान में भी कांग्रेस पार्टी की ओर से आयोजित जन आकांक्षा रैली में पहुंचे राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को कई बार याद किया और कहा कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जिस तरह किसानों के कर्जे माफ किए और रोजगार के अवसर तलाशने में 70 दिनों के अंदर ही फैसले ले लिए हैं। कांग्रेस उसी रास्ते पर चलेगी, बशर्तें उन्होंने कहा कि उड़ीसा की जनता को कांग्रेस का समर्थन करना पड़ेगा, साथ देना पड़ेगा। राहुल गांधी ने कहा छत्तीसगढ़ के किसान बेहद खुश हैं, ये सब भूपेश जी के कारण ही हुआ है, ऐसा ही काम मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मध्यप्रदेश में भी किया है। दो महीने में ही हमारी सरकारों की लोगों ने तारीफ़ करना शुरू कर दिया है क्योंकि हमारी नियत साफ है। श्री गांधी ने आगे कहा कि आज देश भर समस्याओं के काले बादल गहरा गए हैं। संविधान और इसकी संस्थाएं खतरे में हैं। किसान परेशान है, बेरोजगारी चरम पर है। मैं पूरे विश्वास से साथ कहता हूं कि छत्तीसगढ़ की तर्ज पर बिहार भी इन सबसे उबरेगा।

समाचार विश्लेषण के लेखक इस पत्र समूह के प्रधान संपादक हैं।