तय करें निर्णय लेने वाली सरकार चाहिए या नारे वाली

ओडिशा में बोले प्रधानमंत्री मोदी

कोरापुट। प्रधानमंत्री अपने चुनावी दौरे पर आज फिर से तीन राज्यों में सभाओं को संबोधित करेंगे। ओडिशा के कोरापुट में उन्होंने अपनी एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए राज्य सरकार और विपक्षी दलों पर जमकर निशाना साधा। साथ ही अंतरिक्ष में भारत के मिशन शक्ति की सफलता के लिए ओडिशा के लोगों को बधाई भी दी। उन्होंने यह भी कहा कि जनता को तय करना है कि उन्हें निर्णय लेने वाली सरकार चाहिए या फिर केवल नारे देने वाली। प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि आप सभी जनता-जनार्दन का आशीर्वाद लेने के लिए आपका ये चौकीदार आपके बीच आया है। 2014 में जब उड़ीसा आया था तो कहा था पूरी ईमानदारी से, पूरी निष्ठा से आपकी सेवा करने में, मैं कोई कसर नहीं छोडूंगा, आपके प्रधानसेवक के तौर पर आपकी सेवा में मैंने कोई कसर नहीं छोड़ी है। इन पांच वर्षों में आपने मेरा साथ दिया है, मुझे दिशा दिखाई है। विरोधियों के अनेकों वार के सामने मुझे सुरक्षा दी है। इसके लिए मैं आपका बहुत बहुत आभारी हूं।
प्रधानमंत्री ने कहा कि दो दिन पहले ही, ओडिशा एक ऐसी ऐतिहासिक उपलब्धि का गवाह बना है, जिसने पूरी दुनिया को भारत के सामथ्र्य से परिचित कराया है। भारत अब अंतरिक्ष में भी चौकीदारी करने में सक्षम है। मतदान के दिन जब आप पोलिंग बूथ जाएंगे तो एक स्पष्ट मन बनाकर जाइएगा। आपको ये तय करना है कि आतंक के ठिकानों में घुसकर मारने वाली सरकार चाहिए, या फिर घबराकर बैठ जाने वाली सरकार। आपको ये तय करना है कि निर्णय करने वाली सरकार चाहिए या सिर्फ नारे देने वाली सरकार। आपको तय करना है कि जो सरकारें नक्सली हिंसा पर काबू नहीं पा सकतीं, जो उसके आगे कमजोर नजर आती हैं, उन्हें क्या सजा देनी है।
नायडू ने राज्य के विकास को दरकिनार किया: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा चुनाव प्रचार अभियान में शुक्रवार को ओडिशा के कोरापुट, तेलंगाना के महबूबनगर और आंध्र के करनूल में जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने तीनों राज्यों की सरकारों और मुख्यमंत्रियों पर निशाना साधा। मोदी ने करनूल में मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू को यू-टर्न बाबू बताया। उन्होंने कहा कि नायडू ने राज्य के विकास को दरकिनार कर दिया। मोदी ने कहा, आंध्र के लोगों को पता है कि किसके खचाने भरे गए। चौकीदार ने जैसे ही हिसाब मांगा यूटर्न बाबू ने आंध्र के विकास से यूटर्न ले लिया और एनडीए से बाहर हो गए। मोदी ने कहा कि आंध्र के विकास के लिए डबल इंजन वाली सरकार की जरूरत है। राज्य और केंद्र में भाजपा की सरकार होनी चाहिए।
भारत की लड़ाई पाकिस्तानियों से नहीं, आतंकवाद से है: मोदी: नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि भारत का पाकिस्तान की जनता के साथ कोई झगड़ा नहीं है और उन्होंने कहा कि हमारी लड़ाई आतंकवाद के खिलाफ है। मोदी ने एक न्यूज चैनल के साक्षात्कार में कहा कि जहां तक भारत का संबंध है, पाकिस्तान के पास आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई के अलावा और कोई विकल्प नहीं है। मोदी ने कहा, ‘हमारा पाकिस्तान की जनता के साथ कभी झगड़ा नहीं था और आज भी नहीं है। प्रधानमंत्री ने कहा, हमने 26/11 को लेकर सभी सूची, टेप आदि दे दिये, वे अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई कर सकते हैं और उसे हमें सौंप सकते हैं, हम कानूनी कदम उठाएंगे। जैश-ए-मोहम्मद ने इसे स्पष्ट रूप से कहा कि हां, हमने यह किया है और तब भी आप (पाकिस्तान) कार्रवाई नहीं करते हैं। पाकिस्तान ने हमेशा हर आतंकवादी हमले के बाद आश्वासन दिया कि वह निर्णायक कार्रवाई करेगा, लेकिन वह ऐसा नहीं करता है। मैं अब उनके जाल में नहीं फंसना चाहता हूं।