रिलायंस पावर कंपनी की सासन कोयला खदान पर रोक

70 करोड़ रूपए की रॉयल्टी जमा नहीं कराए जाने पर शासन ने की कार्रवाई
हृदेश धारवार, 9755990990
भोपाल, 30 मार्च।
रिलायंस एडीएजी ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। एक तरफ तो कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी राफेल घोटाले को लेकर अनिल अंबानी पर लगातार हमला कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ मध्यप्रदेश सरकार ने भी उनकी कंपनी रिलायंस पावर ग्रुप को एक बड़ा झटका दिया है। शासन ने रिलायंस ग्रुप की सासन कोयला खदान से उत्खनन एवं डिस्पैच पर रोक लगा दी है। क्योंकि रिलायंस सासन पावर कंपनी ने रायल्टी के करीब 70 करोड़ रूपए जमा नहीं कराए हैं। जिसकी वजह से शासन ने यह कार्रवाई की है। अनिल अंबानी अपनी कई कंपनियों को बेचकर पूंजी जुटा रहे हैं। ताकि वह अपना कर्ज कम कर सकें। कर्ज के चलते पिछले दिनों अनिल अंबानी को उनके बड़े भाई व रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने 550 करोड़ रुपए देकर जेल जाने से बचाया था। यह मामला अभी पूरी तरह शांत भी नहीं हुआ था कि मध्यप्रदेश शासन ने रिलायंस सासन पावर द्वारा किए जा रहे कोयले के उत्खनन पर रोक लगाने की कार्रवाई कर दी।
जानकारी के मुताबिक सिंगरौली जिले की सासन कोल माइन वॉल्यूम के हिसाब से भारत की सबसे बड़ी कोयला खदान है। जो कि विश्व स्तर पर सबसे बड़ी एकीकृत बिजली संयंत्र और कोयला खदान है। कंपनी के पास 5,945 मेगावाट के ऑपरेटिंग पोर्टफोलियो के साथ कोयला, गैस, हाइड्रो और नवकरणीय ऊर्जा के आधार पर निजी क्षेत्र में बिजली परियोजनाओं का सबसे बड़ा पोर्टफोलियो है। इसके बाद भी कंपनी ने पिछले 4 महीने से शासन को रॉयल्टी के करीब 70 करोड़ रूपए जमा नहीं कराए हैं। रॉयल्टी की राशि जमा नहीं होने तक शासन ने खदान से उत्खनन व डिस्पैच पर रोक लगाई है। शासन ने कंपनी को पत्र जारी कर रॉयल्टी की राशि जमा कराने को कहा है। मध्यप्रदेश शासन की यह कार्रवाई रिलायंस ग्रुप के लिए एक बड़ा झटका है।
इनका कहना है
रिलायंस सासन पावर कंपनी पर करीब 80 करोड़ रूपए की रॉयल्टी बकाया है इसलिए नियमानुसार कार्रवाई की गई है।
नीरज मंडलोई, प्रमुख सचिव, खनिज विभाग, मप्र
रिलायंस सासन पावर कंपनी ने रॉयल्टी के 70 करोड़ रूपए जमा नहीं कराए हैं। इसलिए सासन कोयला खदान से उत्खनन एवं डिस्पैच पर रोक लगा दी है। कंपनी को पत्र जारी कर राशि जमा कराने को कहा गया है।
के.वी.एस. चौधरी, कलेक्टर सिंगरौली