कांग्रेस राज की पहचान भ्रष्टाचार के नए रिकार्ड : मोदी

यहां के बोटी-बोटी वाले साहब शहजादे के चहेते
देहरादून/अमरोहा/सहारनपुर, 5 अप्रैल।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को देहरादून में रैली को संबोधित करते हुए कहा, हेलिकॉप्टर की दलाली किसने खाई? कांग्रेस और भ्रष्टाचार मिलकर नए रिकॉर्ड खड़े करते रहते हैं। कांग्रेस ने राज की पहचान है कि उसमें भ्रष्टाचार एक्सलेटर पर रहता है और विकास वेंटिलेटर पर रहता है। यही कांग्रेस की पहचान है।
विपक्ष पर लगाया आतंकवाद बढ़ाने का आरोप
इससे पहले उन्होंने उत्तरप्रदेश के अमरोहा और सहारनपुर में भी जनसभाएं कीं। अमरोहा में उन्होंने कांग्रेस, सपा और बसपा पार्टी पर आतंकवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया। मोदी ने कहा कि इन दलों के आतंकवाद पर नरम रवैये की वजह से कुछ लोगों के हौसले बुलंद हुए। इन दलों ने आपके जीवन और अस्तित्व को भी संकट में डालने का काम किया।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, आतंकियों को उन्हीं के तरीके से जवाब देना, देश के ही कुछ लोगों को परेशान करता है। जब भारत डंके की चोट पर दुश्मन को मारता है, तब कुछ लोगों को हिंदुस्तान में रोना आता है। मजबूत सरकार ही कड़े और बड़े फैसले ले पाती है। मोदी आतंक को वोट बैंक में नहीं तोलता। आतंक के सभी मददगार आज जेलों में हैं। उत्तरप्रदेश में सपा, बसपा और दिल्ली में कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में कभी लखनऊ तो कभी काशी तो कभी रामपुर के सीआरपीएफ कैंप पर हमला होता था। बीते 5 वर्षों से धमाके रुके हैं, बम-बंदूकों की आवाज बंद हुई है। आतंकियों को पता है कि वे एक गलती भी करेंगे तो मोदी उन्हें पाताल में भी सबक सिखाएगा। पीएम बनने के बाद मोदी पहली बार अमरोहा पहुंचे हैं। इससे पहले 2009 और 2014 के लोकसभा चुनाव में वह स्टार प्रचारक के रुप में आए थे।
अजीत सिंह के बेटे गाली देने के मामले में पिता से भी आगे निकले: मोदी ने कहा, चौधरी अजीत सिंह ने चौकीदार को गाली देने की सारी हदें पार कर दी हैं। उनका छोटा चौधरी तो और भी आगे है। लेकिन जनता उनसे भी हिसाब लेगी। चौधरी चरण सिंह की आत्मा दुखी होगी। आपको याद होना चाहिए कि कांग्रेस ने ओबीसी आरक्षण का विरोध किया था।
मोदी ने कहा- कांग्रेस नेता बोटी-बोटी करने वाले: मोदी ने नाम लिए बगैर सहारनपुर से कांग्रेस प्रत्याशी इमरान मसूद पर निशाना साधा। मोदी ने कहा- भाइयों यहां तो बोटी-बोटी करने वाले साहब भी हैं। याद रखना वो बोटी-बोटी करने वाले और हम बेटी-बेटी को सम्मान देने वाले लोग हैं।
घर में गैस, बेटियों को सुरक्षा हमारी सरकार ने दी। बेटियों पर अत्याचार करने वालों को फांसी दिलाने की व्यवस्था भी हमारा कदम है। तीन तलाक के कुचक्र से मुस्लिम बेटियों और महिलाओं को छुटकारा मिला। बोटी-बोटी करने वाले जिस पार्टी से हैं, उस पार्टी की नियत में ही खोट है। कांग्रेस ने अपने ढकोसला पत्र में लिखा है कि बेटियों के साथ राक्षसी अपराध करने वालों को अब जमानत मिल जाएगी।
मोदी ने कहा- नेता पुत्र का चुनाव लडऩा वंशवाद नहीं: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजनीति में वंशवाद की व्याख्या की है। न्यूज चैनल एबीपी को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि नेता का बेटा चुनाव लड़े तो इसे वंशवाद नहीं कहा जा सकता। हालांकि उन्होंने इसे भी रोके जाने की बात कही। मोदी के मुताबिक- किसी परिवार के सदस्य का पार्टी का मुखिया बनना वंशवाद है।
सवाल- कांग्रेस ये आरोप लगा रही है कि आज सरकार की आलोचना करना राष्ट्रद्रोह है?
मोदी- न्यायालय पर भरोसा रखना चाहिए।
सवाल- कश्मीर में गठबंधन क्यों खत्म कर दिया?
मोदी- जब हम हमने गठबंधन किया तब मुफ्ती मोहम्मद सईद थे। गठबंधन मिलावटी साबित हुआ। हमने सरकार चलाने की कोशिश की। महबूबा जी के काम करने का तरीका अलग है। हमारा मत था कि जम्मू-कश्मीर में स्थानीय निकाय के चुनाव होने चाहिए। पंचायतों को पैसे दिए जाने चाहिए। वे नहीं चाहते थे कि पंचायतों की ताकत बढ़े। उन्होंने डर पैदा करने की कोशिश की कि चुनाव होने पर हत्याएं होंगी। इसके बाद हम अलग हो गए। हमारी कोशिश थी कि गठबंधन में अच्छा करें।
सवाल- कश्मीर को बेहतर ढंग से हैंडल करना चाहिए था, इसमें क्या सरकार असफल रही?
मोदी- जब हम जम्मू कश्मीर की बात करते हैं तो हमें घाटी, लद्दाख की भी बात करनी चाहिए थी। वहां घटनाएं कम हो रही है। जम्मू-कश्मीर के हर घर में बिजली और शौचालय की सुविधा उपलब्ध हो गई। कृषि, खादी व्यवसाय में वृद्धि हुई। अमरनाथ, वैष्णो देवी के पर्यटक बढ़ रहे हैं। स्पोर्ट्स में वहां के बच्चे अच्छा कर रहे हैं। अलगाववादियों के प्रति नरमी अब सही नहीं होगी। हम उनके खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं। दो-तीन जिलों में ही वे सक्रिय हैं। वहां से भी हटाया जाएगा।
सवाल- पाकिस्तान को लेकर क्या सोचते हैं?
मोदी- मेरा काम भारत के हितों की रक्षा करना है, पाकिस्तान चलाना मेरी जिम्मेदारी नहीं। पाकिस्तान में पता ही नहीं चलता कि देश कौन चलाता है। सेना, आईएसआई, चुनी हुई सरकार या पाक से भागे हुए लोग देश चलाते हैं। यह भी पता नहीं चलता कि बात किससे करें? वे आतंक का निर्यात करना बंद करें। चीन का साथ हमारे सीमा विवाद है, लेकिन व्यवसाय और राजनीतिक बातें होती हैं।
सवाल- आपको गांधी-नेहरू परिवार से दिक्कत क्या है?
मोदी- मैं चाहूंगा कि इस प्रकार से सहानुभूति हासिल करने के लिए वे जो ड्रामेबाजी कर रहे हैं, वे बताएं कि मैंने क्या किया? लालूजी जेल में हैं, लेकिन केस तो कांग्रेस के काल में शुरू हुआ था। इसमें मेरा क्या दोष है? मैंने देश से कहा है कि लूटने वालों से पाई-पाई वापस लूंगा? नेशनल हेराल्ड का केस भी मेरे आने से पहले शुरू हुआ था, लेकिन दबा दिया गया। मैं तो बस कानूनी काम कर रहा हूं। देश के एक वित्त मंत्री को आज कोर्ट का चक्कर लगाना पड़ रहा है।
सवाल- गांधी भाई-बहनों में बेहतर कौन है?
मोदी- कांग्रेस पार्टी सवा सौ साल से ज्यादा पुरानी है। इस पार्टी का ऐसा क्या दरिद्र है कि उसके अंदर से नेता नहीं उभरते। मैं उनसे मिला नहीं, उन्हें निजी तौर पर नहीं जानता, इसलिए कोई टिप्पणी नहीं करूंगा।
सवाल- वाराणसी से प्रियंका के चुनाव लडऩे की खबरें हैं?
मोदी- लोकतंत्र में कोई कहीं से भी चुनाव लड़ सकता है।
सवाल- आप भी दो सीटों से चुनाव लड़े थे लेकिन राहुल के दो सीटों से चुनाव लडऩे पर विवाद हो रहा है?
मोदी- कौन कहां से चुनाव लड़ता है, वह उनका निर्णय है। अमेठी से उनको (राहुल गांधी) भागना क्यों पड़ा, ये देश जानना चाहता है।
सवाल- वंशवाद को लेकर क्या कहेंगे?
मोदी- अगर भारतीय जनता पार्टी बुरे रास्ते पर चलेगी तो हम दूसरे से शिकायत नहीं कर सकते। कांग्रेस से लोगों को अपेक्षा है। बाबा साहब अंबेडकर ने 1937 में कहा था कि वंशवाद लोकतंत्र के लिए खतरा है। उस वक्त तो मोदी पैदा भी नहीं हुआ था। मैंने कभी किसी का नाम नहीं लिया। नेता का बेटा चुनाव लड़े, वह वंशवाद नहीं है। पार्टी का मुखिया बार-बार किसी परिवार का सदस्य ही बने, यह वंशवाद है। हम अपने गठबंधन के साथियों से भी परिवारवाद से दूर रहने को कहते हैं।