आयकर छापों में 281 करोड़ के बेहिसाबी कैश रैकेट का पता चला

230 करोड़ के बेनामी लेनदेन का भी खुलासा
नई दिल्ली/भोपाल, 8 अप्रैल।
मध्यप्रदेश में आयकर विभाग की छापे की कार्रवाई में 281 करोड़ रुपए के बेहिसाबी कैश रैकेट का पता चला है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस (सीबीडीटी) ने बताया कि राजनीति, व्यापार और सरकारी सेवाओं से जुड़े लोगों के जरिए यह रकम इक_ा की गई थी। सीबीडीटी के मुताबिक, कैश का एक हिस्सा हवाला के जरिए दिल्ली स्थित एक बड़ी राजनीतिक पार्टी के मुख्यालय में भी ट्रांसफर किया गया। इसमें 20 करोड़ रु. की वह रकम भी शामिल है, जिसे हाल ही में पार्टी के एक वरिष्ठ पदाधिकारी के तुगलक रोड स्थित आवास से पार्टी मुख्यालय में भेजा गया था। दिल्ली के आयकर निदेशालय की टीम दो दिन से मध्यप्रदेश में छापे की कार्रवाई कर रही थी। हालांकि, सोमवार को सीबीडीटी की तरफ से जारी बयान में किसी नेता विशेष के नाम का जिक्र नहीं किया गया।
अहम खुलासे

सीबीडीटी ने बताया कि 14.6 करोड़ रु. का बेहिसाबी कैश, 252 शराब की बोतलें, हथियार और बाघ की खालें भी जब्त की गई हैं।
एक वरिष्ठ पदाधिकारी के करीबी रिश्तेदार के समूह के दिल्ली स्थित ठिकानों पर छापों के दौरान कई सबूत मिले। इनमें एक कैशबुक भी शामिल है, जिसमें 230 करोड़ के बेनामी लेनदेन का जिक्र है।
सीबीडीटी के मुताबिक, कैशबुक के अलावा 242 करोड़ रु. की रकम के फर्जी बिलों के जरिए हेरफेर और टैक्स हैवेन कहे जाने वाले देशों में 80 कंपनियों की मौजूदगी के सबूत भी मिले हैं। दिल्ली के पॉश इलाकों में कुछ बेनामी संपत्तियों का भी खुलासा हुआ है।