असली चोर कौन: मोदी प्रधानमंत्री का तंज, कांग्रेस के करीबियों के घर से बक्सों में भरे नोट निकले

Mumbai: Prime Minister Narendra Modi along with CM Devendra Fadnavis and Shiv Sena President Uddhav Thackarey during the foundation stone laying ceremony of the two metro corridors and other projects, at Bandra Kurla Complex, in Mumbai on Saturday. PTI Photo by Santosh Hirlekar(PTI12_24_2016_000158B)

मुंबई, 9 अप्रैल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के साथ महाराष्ट्र के लातूर में जनसभा की। उन्होंने मध्यप्रदेश में पड़े छापे पर निशाना साधा। मोदी ने कहा कि कांग्रेस के करीबियों के घर से बक्सों में भरे नोट बरामद हुए। इससे पता चलता है कि असली चोर कौन है? आज पहले चरण के चुनाव प्रचार का आखिरी दिन है।
मोदी और ठाकरे 27 महीने बाद एक मंच पर दिखाई दिए। इससे पहले उन्होंने दिसंबर 2016 में मुंबई में अरब सागर के बीच शिवाजी महाराज के स्मारक की नींव रखी थी। लातूर में चुनाव मैदान में 10 उम्मीदवार हैं लेकिन मुख्य मुकाबला कांग्रेस और भाजपा के बीच है। यहां 18 अप्रैल को मतदान होगा।
कांग्रेस में नोट से वोट खरीदने की संस्कृति: प्रधानमंत्री ने कहा, मध्यप्रदेश में सरकार बने अभी 6 महीने नहीं हुए, लेकिन इनकी कलाकारी देखिए, अरबों-खरबों रुपए की लूट के सबूत मिले हैं। बड़े-बड़े लोगों के बंगलों से करोड़ों का कालाधन इधर से उधर हुआ है। डर के कारण कुछ रागदरबारी, इनके खासमखास वहां पहुंच गए कि पैसे जब्त न हों और दबाव बनाने लगे। भ्रष्टाचार ही वह काम है जो कांग्रेस सत्ता में आने के बाद पूरी ईमानदारी के साथ करती है। कांग्रेस में भ्रष्टाचार ही शिष्टाचार है। आपने देखा होगा कल-परसों, कैसे कांग्रेस के करीबियों के घर से बक्सों में भरे हुए नोट मिल रहे हैं। नोट से वोट खरीदने का ये पाप इनकी राजनीतिक संस्कृति रही है। ये बोलते हैं- चौकीदार चोर है, लेकिन नोट कहां से निकले। असली चोर कौन है?
एयरस्ट्राइक करने वालों को वोट देंगे या नहीं? : लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को महाराष्ट्र के लातूर में जनसभा की। इस रैली में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे भी मोदी के साथ दिखे, पीएम हाथ पकड़ कर उद्धव को स्टेज तक लेकर आए, इतना ही नहीं प्रधानमंत्री ने उद्धव को अपना छोटा भाई भी बताया। गठबंधन होने के बाद शिवसेवा-बीजेपी की ये पहली बड़ी साझा रैली थी, प्रधानमंत्री ने यहां हाल ही में हुई कांग्रेस नेताओं के घर छापेमारी की बात भी कही। मोदी ने इस रैली में विपक्ष को निशाने पर लिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जो लोग 6 महीने से बोल रहे हैं चौकीदार चोर है, अब नोटों के बंडल इनके दरबारियों के घर से निकल रहे हैं, उन्होंने कहा कि असली चोर कांग्रेस है, इसलिए इन्हें चौकीदार का डर है, उन्होंने कहा कि जब कल कार्रवाई हो रही थी तो कांग्रेस के एक बड़े नेता वहां पर पहुंच गए और अधिकारियों को धमकाने लगे, लेकिन जब फोटो निकलना शुरू हुई तो मुंह पर रुमाल रख कर भाग गए. युवा वोटरों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपील करते हुए कहा कि क्या आपका पहला वोट बालाकोट एयरस्ट्राइक करने वाले वीर जवानों को डाला जाना चाहिए कि नहीं जाना चाहिए? इसके बाद प्रधानमंत्री ने कहा कि आपका ये वोट सीधा मोदी को जाएगा।